बेईमानों को छोड़ा नहीं जाएगा, ईमानदारों को छेड़ा नहीं जाएगा: नकवी

भाषा
Updated: November 15, 2017, 8:50 PM IST
बेईमानों को छोड़ा नहीं जाएगा, ईमानदारों को छेड़ा नहीं जाएगा: नकवी
बेईमानों को छोड़ा नहीं जाएगा, ईमानदारों को छेड़ा नहीं जाएगा: Naqvi
भाषा
Updated: November 15, 2017, 8:50 PM IST
आयकर विभाग की ओर से बेनामी संपत्ति रोधी कानून के प्रावधानों के तहत 30 लाख रुपए से अधिक की संपत्ति की रजिस्ट्री के ब्यौरे की जांच किए जाने के संदर्भ में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बुधवार को कहा कि सरकार किसी भी ईमानदार व्यक्ति को परेशान नहीं करेगी, लेकिन बेईमान लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा.

उन्होंने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सरकार के इस कदम से किसी को परेशान होने की ज़रूरत नहीं है.

दरअसल, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने मंगलवार को कहा कि आयकर अधिकारी उन मुखौटा कंपनियों और उनके निदेशकों की भी जांच कर रहे हैं जिन्हें सरकार ने कालेधन के खिलाफ अभियान के तहत हाल ही प्रतिबंधित किया है. इसके साथ ही विभाग के उन सभी संपत्तियों में कर ब्यौरे का मिलान किया जा रहा है जिनका पंजीयन मूल्य 30 लाख रुपए से अधिक है.

उन्होंने ये भी कहा कि कर अधिकारियों ने अब तक 621 संपत्तियों को कुर्क किया है जिनमें कुछ बैंक खाते शामिल हैं. ये मामले कुल मिलाकर लगभग 1800 करोड़ रुपए की राशि से जुड़े हैं जिनकी जांच बेनामी सौदा कानून के तहत की जा रही है.

इस बारे में पूछे जाने पर नकवी ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा, 'इस सरकार का रुख बहुत साफ है. बेईमानों को छोड़ा नहीं जाएगा और ईमानदारों को छेड़ा नहीं जाएगा. इसमें किसी को परेशान होने की ज़रूरत नहीं है.'
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर