लंबी सफेद दाढ़ी में उमर अब्दुल्ला की फोटो वायरल, ममता बनर्जी बोलीं- मैं उन्हें पहचान नहीं सकी

लंबी सफेद दाढ़ी में उमर अब्दुल्ला की फोटो वायरल, ममता बनर्जी बोलीं- मैं उन्हें पहचान नहीं सकी
उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर पीएसए लगाया गया है..

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के आधिकारिक ट्विटर (Twitter) हैंडल से साझा की गई तस्वीर में उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) बढ़ी दाढ़ी में और सर्दियों की कैप पहने मुस्कुराते हुए दिखाई दे रहे हैं. हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि फोटो कब ली गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2020, 10:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री (West Bengal Chief Minister) ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने शनिवार को नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) के नेता उमर अब्दुल्ला की एक तस्वीर अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शेयर की है. बता दें कि उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के जम्मू-कश्मीर से पिछले अगस्त में अनुच्छेद 370 के जरिए विशेष दर्जा (special status) खत्म किए जाने के दौर से ही हिरासत में हैं.

ममता बनर्जी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल (official Twitter handle) से साझा की गई तस्वीर में उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) बढ़ी हुई दाढ़ी में, सर्दियों की कैप पहने, मुस्कुराते देखे जा सकते हैं. हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि यह फोटो कब ली गई थी.

उमर की तस्वीर पर ममता बनर्जी ने लिखा, 'मुझे बुरा लग रहा है'
ममता बनर्जी ने अपने ट्वीट में लिखा, "इस तस्वीर में मैं उमर को पहचान नहीं सकी. मुझे बुरा लग रहा है. यह हमारे लोकतांत्रिक देश (democratic country) में हो रहा है. यह कब खत्म होगा?"



अपने पिता फारुख अब्दुल्ला और एक अन्य पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) सहित, उमर अब्दुल्ला उन सैकड़ों राजनीतिक नेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं, वकीलों और व्यापारियों में शामिल हैं. जिन्हें केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से ही हिरासत में रखा हुआ है. इसके जरिए बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर उसे लद्दाख और जम्मू-कश्मीर दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांट दिया था.



CRPC की धारा 107 के अंतर्गत हिरासत में हैं उमर सहित कश्मीर के कई नेता
अब्दुल्ला, मुफ्ती और दूसरे नेताओं को आपराधिक दंड संहिता की धारा (107 Section 107 of Code the of Criminal Procedure) के तहत हिरासत में लिया गया था. यह धारा अधिकारियों और एक कार्यकारी मजिस्ट्रेट को किसी भी व्यक्ति को 6 महीने के लिए किसी गड़बड़ी से बचने के लिए हिरासत में रखने की अनुमति देता है. ऐसा तब किया जाता है जब किसी व्यक्ति के शांति भंग करने या सार्वजनिक नुकसान की संभावना होती है.

यह भी पढ़ें: J&K: सुरक्षाबलों ने जैश के कमांडर समेत 3 आतंकियों को घेरा, दो किए गए ढेर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading