रक्षा क्षेत्र में देश को बनना होगा आत्मनिर्भर, रक्षा मंत्री बोले- यह आत्मसम्मान और संप्रभुता का मसला

रक्षा मंत्री राजनाथा सिंह ने दीनदयाल स्मृति व्याख्यान को ऑनलाइन संबोधित किया. (फाइल फोटो)
रक्षा मंत्री राजनाथा सिंह ने दीनदयाल स्मृति व्याख्यान को ऑनलाइन संबोधित किया. (फाइल फोटो)

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने कहा कि, सरकार (Govt) ने 101 तरह के हथियार और सैन्य प्रणालियों के आयात (Military systems imports) पर 2024 तक रोक लगाई है. उन्होंने दीनदयाल स्मृति व्याख्यान को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि, इस फैसले से भारत में प्रति वर्ष 52,000 करोड़ रुपये के रक्षा उपकरणों के निर्माण का अवसर मिला है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 27, 2020, 10:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने शनिवार को कहा कि, जो देश अपने सैन्य साजो-सामान (Military equipment) के लिए आयात पर निर्भर करता है, वह कभी भी मजबूत नहीं हो सकता. उन्होंने कहा कि रक्षा क्षेत्र (Defense sector) में आत्मनिर्भर होना देश के 'आत्म-सम्मान' और 'संप्रभुता' से जुड़ा है. भारत, रक्षा क्षेत्र से जुड़ी बड़ी कंपनियों के लिए एक बड़ा बाजार है और देश उन तीन देशों में शामिल है. जिन्होंने पिछले आठ वर्षों में सबसे ज्यादा सैन्य साजो-सामान का आयात किया है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि, सरकार ने 101 तरह के हथियार और सैन्य प्रणालियों के आयात पर 2024 तक रोक लगाई है. उन्होंने दीनदयाल स्मृति व्याख्यान को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि, इस फैसले से भारत में प्रति वर्ष 52,000 करोड़ रुपये के रक्षा उपकरणों के निर्माण का अवसर मिला है.

यह भी पढ़ें: Oxygen Cylinder की कीमत को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, अब नहीं वसूल सकेगा कोई भी ज्यादा दाम



मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार जल्द ही नई रक्षा उत्पादन एवं खरीद नीति लेकर आएगी. हाल में संसद से पारित कृषि विधेयकों पर सिंह ने कहा कि, किसानों के कल्याण की प्रतिबद्धता दीनदयाल उपाध्याय के दौर से बनी हुई है. उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे कदम उठाए हैं. जिससे किसानों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य मिलने में मदद मिलेगी.
यह भी पढ़ें: गर्लफ्रेंड को प्रपोज करने के लिए युवक ने किया अनोखा काम, बन गया वर्ल्ड रिकॉर्ड

भारत विश्व में सबसे ज्यादा हथियार खरीदने वाला देश

इंटरनेशनल आर्म्स ट्रांसफर की रिपोर्ट के अनुसार भारत में 2013 से 2017 के दौरान हथियारों की खरीद में 24 फीसदी की वृद्धि हुई है. भारत के बाद इस लिस्ट में विश्व में टॉप हथियार खरीदार देश सऊदी अरब, मिस्त्र, यूएई, चीन, ऑस्ट्रेलिया, अल्जीरिया, इराक, पाकिस्तान और इंडोनेशिया हैं. आपको बता दें 2013 से 2017 के दौरान भारत ने 62 फीसदी हथियारों की खरीद अकेले रूस से की है. इसके बाद अमेरिका से 15 फीसदी और 11 फीसदी हथियार इजरायल से खरीदे गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज