Assembly Banner 2021

मुंबई में पकड़े गए 9 लाख रुपये के चोरी के मोबाइल, क्राइम ब्रांच के रडार पर कुरियर कंपनियां

अंधेरी इलाके के एक शॉपिंग प्लाजा में छापेमारी करते हुए इस गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए करीब 9 लाख रुपये के एंड्रॉइड और आईफोन बरामद किए थे. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

अंधेरी इलाके के एक शॉपिंग प्लाजा में छापेमारी करते हुए इस गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए करीब 9 लाख रुपये के एंड्रॉइड और आईफोन बरामद किए थे. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

Mumbai Crime News: मुंबई क्राइम ब्रांच (Mumbai Crime Branch) की टीम ने अपने खुफिया सूत्रों से जानकारी मिलने के बाद मुंबई के अंधेरी इलाके के एक शॉपिंग प्लाजा में छापेमारी करते हुए इस गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए करीब 9 लाख रुपये के एंड्रॉइड और आईफोन बरामद किए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 7, 2021, 12:04 PM IST
  • Share this:
मुंबई. चोरी किए गए मोबाइल (Stolen Mobile Phone) फ़ोन के डाटा को सॉफ्टवेयर के जरिए फॉर्मेट कर उसकी दोबारा बिक्री करने के गिरोह का भंडाफोड़ करने वाली मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम उस तार की तलाश में जुटी हुई है, जिसके जरिए अलग-अलग राज्यों से मोबाइल चोरी करके मुंबई में भेजा जाता था. चोरी किए गए मोबाइल फ़ोन कुरियर के जरिए मुंबई भेजे जाते थे, ऐसे में क्राइम ब्रांच के रडार पर कुरियर कंपनियां (Courier Companies) भी हैं. इस मामले में क्राइम ब्रांच की टीम अलग-अलग राज्यों की पुलिस के संपर्क में है, ताकि इस रैकेट की तह तक पहुंचा जा सके.

दरअसल मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने अपने खुफिया सूत्रों से जानकारी मिलने के बाद मुंबई के अंधेरी इलाके के एक शॉपिंग प्लाजा में छापेमारी करते हुए इस गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए करीब 9 लाख रुपये के एंड्रॉइड और आईफोन बरामद किए थे. इस मामले में तीन आरोपियों की गिरफ्तारी भी हुई थी, जिनकी दुकानें शॉपिंग प्लाजा में हैं.

जांच के दौरान यह जानकारी सामने आई थी कि गिरफ्तार आरोपियों के पास सिर्फ मुंबई से ही नही, बल्कि दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान सहित कई अन्य राज्यों से चोरी किए हुए मोबाइल फ़ोन आते हैं और यह सॉफ्टवेयर के जरिए महंगे एंड्रॉइड मोबाइल फ़ोन को फार्मेट कर देते थे, जबकि आईफोन का आई क्लाउड डिलीट कर देते थे और बाद में उसे नया फ़ोन कहकर ग्राहकों को बेच देते थे.



यह भी पढ़ें: Vaccination 2nd Phase: वैक्सीन से पहले व्हीलचेयर, नाश्ता, मुंबई के अस्पताल ऐसे कर रहे हैं बुजुर्गों का स्वागत
क्राइम ब्रांच के मुताबिक इस गिरोह के तार अलग-अलग राज्यों में फैले होने के सुराग उन्हें जांच में मिले हैं और उसी तार को जोड़ने की कोशिश में वह जुटी हुई है. जिन कुरियर कंपनियों के जरिए मोबाइल फ़ोन मुंबई भेजे जाते थे, उनसे भी पूछताछ की जा रही है, ताकि मोबाइल फ़ोन चोरी कर भेजने वालों तक पहुंचा जा सके.

मुंबई क्राइम ब्रांच के डीसीपी अकबर पठान ने बताया कि हमारी टीम इस पूरे रैकेट की तह तक जाने में जुटी हुई है. जिन-जिन राज्यों से मोबाइल चोरी करके कुरियर के जरिये मुंबई भेजा जाता था, उन राज्यों के पुलिस अधिकारीयों से हम लगातार संपर्क में हैं और इस मामले में जल्द ही कुछ और गिरफ्तारियां हो सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज