अपना शहर चुनें

States

सीरम इंस्‍टीट्यूट को बड़ी राहत, कोर्ट ने खारिज की वैक्‍सीन में ब्रांड नेम के इस्‍तेमाल पर रोक की याचिका

एसआईआई के खिलाफ दायर हुई थी याचिका. (pic-ap)
एसआईआई के खिलाफ दायर हुई थी याचिका. (pic-ap)

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) कोविशील्ड नाम से कोरोना वायरस के एक वैक्सीन का उत्पादन कर रही है, जिसे ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और ब्रिटिश-स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनेका ने विकसित किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2021, 12:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पुणे की एक स्थानीय अदालत ने कोरोना वायरस संक्रमण की वैक्सीन बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) को बड़ी राहत दी है. अदालत ने कंपनी की ओर से कोविशील्ड ब्रांड (CoviShield) नाम के इस्तेमाल पर रोक की मांग करने वाली एक याचिका को खारिज कर दिया है. कंपनी ने शनिवार को इसकी जानकारी दी.

एसआईआई कोविशील्ड नाम से कोरोना वायरस के एक वैक्सीन का उत्पादन कर रही है, जिसे ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और ब्रिटिश-स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनेका ने विकसित किया है. भारत सरकार ने कोविशील्ड वैक्सीन की 110 लाख खुराकें खरीदी हैं. याचिका दायर करने वाली दवा कंपनी कुटिस-बायोटेक के वकील ने कहा कि वह इस संबंध में हाईकोर्ट में अपील दायर करेंगे.

कुटिस-बायोटेक ने पुणे की स्‍थानीय अदालत में चार जनवरी को एक मुकदमा दायर किया था. इसमें दावा किया गया था कि उसके पास ब्रांडनेम कोविशील्ड का उपयोग करने का पहले से अधिकार था. एसआईआई ने अदालत को बताया कि दोनों कंपनियां अलग-अलग उत्पाद श्रेणियों में काम करती हैं और ट्रेडमार्क को लेकर भ्रम की कोई गुंजाइश नहीं है.

एसआईआई के वकील हितेश जैन ने कहा, 'अदालत ने याचिका खारिज कर दी है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज