लाइव टीवी

गर्भावस्था की वजह से DU में LLB का पेपर नहीं दे पाएगी छात्रा, SC ने अनुमति देने से इनकार किया

News18Hindi
Updated: May 23, 2018, 8:19 PM IST
गर्भावस्था की वजह से DU में LLB का पेपर नहीं दे पाएगी छात्रा, SC ने अनुमति देने से इनकार किया
फाइल फोटो

दिल्ली विश्वविद्यालय के वकील ने कहा कि इस छात्रा को बुधवार को परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जा सकती क्योंकि इतने कम समय में उसके लिये व्यवस्था करना बहुत ही मुश्किल है.

  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली विश्वविद्यालय में कानून  की पढ़ कर रही एक छात्रा को पेपर देने की अनुमति देने से मना कर दिया. मिली जानकारी के अनुसार दूसरे वर्ष की छात्रा को इस आधार पर परीक्षा में बैठने की अनुमति देने से कोर्ट ने इनकार कर दिया कि गर्भावस्था की वजह से उसकी उपस्थिति कम रह गयी है. .

पीठ ने छात्रा अंकिता मीणा की याचिका खारिज करते हुये कहा, ‘‘ ऐसा आदेश देने का कोई मतलब नहीं है जिसका पालन नहीं हो सके. समय बहुत ही कम है. ’’ इससे पहले , दिल्ली विश्वविद्यालय के वकील ने कहा कि इस छात्रा को बुधवार को परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जा सकती क्योंकि इतने कम समय में उसके लिये व्यवस्था करना बहुत ही मुश्किल है.

पीठ ने टिप्पणी की , ‘‘ अकादमिक अनुशासन पूरी तरह खत्म हो गया है. आखिरी तारीख रखने का क्या मतलब है ? यदि हम इस सब पर विचार करेंगे तो सब कुछ खत्म हो जायेगा. ’’


पीठ ने इस तथ्य का भी जिक्र किया कि दिल्ली हाईकोर्ट की 1 जज की पीठ इस मामले में पहले ही आदेश पारित कर चुकी है. हाईकोर्ट की खंडपीठ इस छात्रा की अपील पर सुनवाई कर रही है जिसकी उपस्थिति गर्भावस्था की वजह से 70 फीसदी से कम है. यह छात्रा एलएलबी पाठ्यक्रम के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा में शामिल होने की अनुमति चाहती है.



पीठ ने हालांकि उसे परीक्षा में शामिल होने की अनुमति देने से इंकार कर दिया. हालांकि उसे सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ के समक्ष लंबित याचिका को आगे बढ़ाने की अनुमति दे दी. (एजेंसी इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें: गूगल, फेसबुक, याहू, माइक्रोसॉफ्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाया जुर्माना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2018, 6:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर