कोरोनाः भारत बायोटेक के साथ दूसरी कंपनियां भी बनाएंगी कोवैक्सीन! वीके पॉल ने कही बड़ी बात

वीके पॉल ने कहा कि भारत सरकार फाइजर, मॉडर्ना, जॉनसन एंड जॉनसन जैसी कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों के साथ शुरू से ही संपर्क में है. ANI

वीके पॉल ने कहा कि भारत सरकार फाइजर, मॉडर्ना, जॉनसन एंड जॉनसन जैसी कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों के साथ शुरू से ही संपर्क में है. ANI

Dr VK Paul on Covaxin: कौवैक्सीन को बनाने में कोविड के जीवित वायरस का इस्तेमाल किया गया है, इस प्रक्रिया को बीएसएल-3 लैब में अंजाम दिया गया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश में वैक्सीन की कमी पर केंद्र और विपक्ष के बीच आरोप प्रत्यारोप जारी है. इस बीच स्वास्थ्य मामलों पर नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि कोवैक्सीन की निर्माता कंपनी भारत बायोटेक ने वैक्सीन का फॉर्मूला अन्य कंपनियों के साथ शेयर करने पर खुशी जताई है. कौवैक्सीन को बनाने में कोविड के जीवित वायरस का इस्तेमाल किया गया है, इस प्रक्रिया को बीएसएल-3 लैब में अंजाम दिया गया है. उन्होंने कहा, "लोगों का कहना है कि कोवैक्सीन का निर्माण अन्य कंपनियों द्वारा किया जाना चाहिए और मुझे ये बताते हुए खुशी हो रही है कि कोवैक्सीन को बनाने वाली कंपनी ने इस प्रस्ताव का स्वागत किया है."

इसके अलावा वीके पॉल ने कहा कि बायोटेक्नोलॉजी विभाग के अलावा अन्य संबंधित विभाग और विदेश मंत्रालय फाइजर, मॉडर्ना, जॉनसन एंड जॉनसन जैसी कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों के साथ शुरू से ही संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि इन कंपनियों से आधिकारिक तौर पर वैक्सीन भारत भेजने या निर्मित करने के लिए कहा गया था. डॉ. पॉल ने कहा कि टीकाकरण के लिए हम पार्टनर ढूंढ़ना जारी रखेंगे और उनका सहयोग करेंगे.

दूसरी लहर के अनुमान पर क्या बोले वीके पॉल

वीके पॉल से जब पूछा गया कि क्या वैज्ञानिक इससे अंजान थे कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर आएगी? इस पर नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर आएगी, ये बार बार राज्यों को बताया गया, लेकिन दूसरे शब्दों में, क्योंकि पैनिक नहीं फैलाना चाहते थे.


पॉल ने कहा कि 17 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देश को उभरती दूसरी लहर के बारे में बताया था, बिना पैनिक किए... उन्होंने कहा कि पीक का साइज क्या होगा? इसका कोई अनुमान नहीं लगा पाएगा, लेकिन पीक आएगी और फिर वायरस संक्रमण फैलेगा. इसका पता था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज