ICMR का दावा: कोवैक्‍सीन कोरोना संक्रमण से बचाने में है कारगर, डबल म्‍यूटेंट में है प्रभावी

कोवैक्‍सीन कोरोना संक्रमण से बचाने में है कारगर

कोवैक्‍सीन कोरोना संक्रमण से बचाने में है कारगर

ICMR, के मुताबिक कोवैक्‍सीन (COVAXIN) के परिणाम को देखने के बाद हम कह सकते हैं कि ये वैक्‍सीन (Vaccine) ब्रिटेन और ब्राजील में पाए गए कोरोना वायरस से भी बचाव करती है. इसी तरह का प्रयोग देश के डबल म्‍यूटेंट वायरस के साथ भी किया जा चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 11:13 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में बनी कोरोना वैक्‍सीन कोवैक्‍सीन (COVAXIN) को लेकर दावा किया गया है कि वैक्‍सीन (Vaccine) देश में तेजी से बढ़ रहे डबल म्‍यूटेंट (Double Mutant Strain) में कारगर है. कोवैक्‍सीन देश में तेजी से फैल रहे कई विदेशी वैरिएंट्स को भी बचाने में कारगर है. कोरोना वैक्‍सीन (Coronavaccine) को लेकर ये बड़ा दावा इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने किया है. बता दें कि भारत समेत कई देशों में कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है.

आईसीएमआर के मुताबिक कोवैक्‍सीन के परिणाम को देखने के बाद हम कह सकते हैं कि ये वैक्‍सीन ब्रिटेन और ब्राजील में पाए गए कोरोना वायरस से भी बचाव करती है. इसी तरह का प्रयोग देश के डबल म्‍यूटेंट वायरस के साथ भी किया जा चुका है. खास बात ये है कि सभी के नतीजे सकारात्मक रहे. कोवैक्सीन के तीसरे फेज और अंतरिम ट्रायल में हल्के से गंभीर कोविड19 संक्रमण को रोकने में 78 प्रतिशत प्रभावी पाई गई है.



कोवैक्‍सीन के बारे में ऐसा भी दावा किया गया है कि इसे लगवाने के बाद मरीज को अस्‍पताल में भर्ती होने की जरूरत 100 प्रतिशत तक कम हो जाती है. कोवैक्सिन के तीसरे चरण में 25,800 वॉलेंटियर्स को शामिल किया गया, जिनकी उम्र 18 से 98 साल थी. कोरोना वैक्‍सीन की दूसरी डोज 14 दिन के बाद दी गई, जिसके परिणाम काफी राहत देने वाले दिखाई दिए.
इसे भी पढ़ें :- कोरोना के खिलाफ कवच बनेगा टीका! यूपी-बिहार सहित इन राज्यों में मुफ्त लगेगी वैक्सीन

दोनों डोज के बाद भी संक्रमण पर असर हल्‍का

सरकार ने इस बात को माना है कि कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के बाद भी लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं हालांकि उन्‍होंने कहा कि इनकी संख्‍या बेहद कम है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने कहा वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने के बाद अगर संक्रमण हो भी रहा है तो वह ज्यादा गंभीर नहीं है. बता दें कि इस समय देश में कोविशील्ड और कोवैक्सिन लगाई जा रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज