होम /न्यूज /राष्ट्र /

बच्‍चों के लिए सुरक्षित और इम्‍युनिटी बढ़ाने वाली साबित हुई कोवैक्सिन, भारत बायोटेक ने गिनाईं खूबियां

बच्‍चों के लिए सुरक्षित और इम्‍युनिटी बढ़ाने वाली साबित हुई कोवैक्सिन, भारत बायोटेक ने गिनाईं खूबियां

भारत बायोटेक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला.  (फोटो-फ़र्स्टपोस्ट)

भारत बायोटेक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला. (फोटो-फ़र्स्टपोस्ट)

भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड (बीबीआईएल) ने गुरुवार को घोषणा की है कि इसके द्वारा निर्मित कोवैक्सिन ( बीबीवी152), इसके पूर्ण-विषाणु निष्क्रिय कोविड -19 वैक्सीन कैंडीडेट ने यह साबित किया है कि वे बाल चिकित्‍सा विषयों में सुरक्षित, अच्छी तरह से सहन करने योग्य और इम्युनोजेनिक हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड (बीबीआईएल) ने गुरुवार को घोषणा की है कि इसके द्वारा निर्मित कोवैक्सिन (Covaxin)  ( बीबीवी152), इसके पूर्ण-विषाणु निष्क्रिय कोविड -19 वैक्सीन (Covid-19 vaccine) कैंडीडेट ने यह साबित किया है कि वे बाल चिकित्‍सा विषयों में सुरक्षित, अच्छी तरह से सहन करने योग्य और इम्युनोजेनिक हैं. इसके लिए दूसरे और तीसरे चरण का अध्‍ययन किया गया था. वैक्सीन निर्माता की एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि भारत बायोटेक (Bharat Biotech)  ने 2-18 आयु वर्ग के स्वस्थ बच्चों और किशोरों में कोवैक्सिन की सुरक्षा, प्रतिक्रियात्मकता और इम्युनोजेनेसिटी का मूल्यांकन किया था. ऐसा करने के लिए दूसरे और तीसरे फेस में ओपन-लेबल और बहुकेंद्र अध्ययन आयोजित किए थे.

    भारत बायोटेक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एला ने कहा, कोवैक्सिन (Covaxin) का बच्‍चों में किया गया क्‍लीनिकल ट्रायल डेटा बहुत उत्‍साहजनक है. बच्‍चों के लिए टीके की सुरक्षा महत्‍वपूर्ण है और हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि कोवैक्सिन ने अब बच्चों में सुरक्षा और प्रतिरक्षण क्षमता के लिए डेटा साबित कर दिया है. हमने अब वयस्कों और बच्चों के लिए एक सुरक्षित और प्रभावोत्पादक COVID-19 वैक्सीन विकसित करने के अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है.

    ये भी पढ़ें :   नीति आयोग के सदस्य से पूछा, चुनावी रैली में टूट रही कोरोना गाइडलाइन, जवाब मिला- ये हमारा काम…

    ये भी पढ़ें :  बढ़ते कोविड मामलों से घबराने की जरूरत नहीं, सरकार है पूरी तरह तैयार: ICMR

    कोई गंभीर प्रतिकूल घटना की सूचना नहीं 

    बच्‍चों को लेकर क्‍लीनिकल ट्रायल्‍स जून-सितंबर 2021 के बीच किए गए जिसमें सुरक्षा, प्रतिक्रियात्मकता और प्रतिरक्षात्मकता दिखाई है. इस ट्रायल्‍स के डेटा को अक्टूबर 2021 के दौरान केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) को प्रस्तुत किया गया था. इसके परिणाम स्‍वरूप हाल ही में डीसीजीआई से 12-18 आयु वर्ग के बच्चों के लिए आपातकालीन उपयोग की अनुमति प्राप्त हुई. इसमें कहा गया है कि अध्ययन में, कोई गंभीर प्रतिकूल घटना की सूचना नहीं मिली.

    ऐसे किया अध्‍ययन, संस्‍था ने दी जानकारी 

    कुल 374 विषयों में या तो हल्के या मध्यम गंभीरता के लक्षण पाए गए, जिनमें से 78.6 प्रतिशत एक दिन के भीतर ही हल हो गए. विज्ञप्ति में कहा गया है कि इंजेक्शन स्थल पर दर्द सबसे अधिक सूचित प्रतिकूल घटना थी. परीक्षण के लिए, आरटी-पीसीआर और एलिसा परीक्षण (एंजाइम-लिंक्ड इम्यूनोसे) द्वारा SARS-CoV-2 के लिए 976 विषयों की जांच की गई. इनमें से 525 पात्र प्रतिभागियों को नामांकित किया गया था. उम्र के आधार पर, प्रतिभागियों को तीन समूहों में बांटा गया था.

    Tags: Bharat Biotech, Covaxin, Covid-19 vaccine

    अगली ख़बर