भारत-बायोटेक की घोषणा, राज्य सरकारों को 400 रुपए की मिलेगी कोवैक्सीन की हर डोज

भारत-बायोटेक ने इसकी जानकारी दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

भारत-बायोटेक ने इसकी जानकारी दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

भारत-बायोटेक (Bharat-Biotech) ने घोषणा कर दी है कि वो राज्यों को 400 रुपए प्रति डोज के लिए हिसाब से कोवैक्सीन (Covaxin) मुहैया कराएगी. ठीक एक दिन पहले सीरम इंस्टिट्यूट ने कोविशील्ड के दाम में 25 प्रतिशत की कटौती करते हुए 300 रुपए प्रति डोज की घोषणा की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 7:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 1 मई से सभी वयस्कों के लिए शुरू हो जाने रहे वैक्सीनेशन कार्यक्रम के पहले वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर राज्यों-केंद्र में बवाल चल रहा है. इस बीच भारत-बायोटेक (Bharat-Biotech) ने घोषणा कर दी है कि वो राज्यों को 400 रुपए प्रति डोज के लिए हिसाब से कोवैक्सीन (Covaxin) मुहैया कराएगी. ठीक एक दिन पहले सीरम इंस्टिट्यूट ने कोविशील्ड के दाम में 25 प्रतिशत की कटौती करते हुए 300 रुपए प्रति डोज की घोषणा की है.

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने ट्वीट कर कहा, 'सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से राज्य को दी जाने वाली वैक्सीन की कीमत 400 रुपये से घटाकर 300 रुपये प्रति डोज करता हूं और यह तत्काल प्रभाव से लागू होगा. इससे राज्य के हजारों करोड़ रूपये की बचत होगी. इससे और ज्यादा वैक्सीनेशन हो पाएगा और अनगिनत जिंदगियां बचाई जा सकेंगी.'

Youtube Video


कोरोना वायरस के 617 वैरिएंट्स को बेअसर करती है कोवैक्सीन
दो दिन पहले अमेरिका के शीर्ष महामारी विशेषज्ञ डॉक्टर एंथॉनी फॉसी ने कहा था कि भारतीय वैक्सीन कोवैक्सीन कोरोना वायरस 617 वैरिएंट्स को बेअसर करने में कारगर है. डॉक्टर फॉसी ने यह जानकारी मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी थी. वे व्हाइट हाउस के प्रमुख मेडिकल एडवाइजर भी हैं.

फॉसी ने जानकारी दी कि कोवैक्सीन वायरस के 617 वैरिएंट्स को बेअसर कर रही है. उन्होंने कहा 'यह कुछ ऐसा है, जहां हम अभी भी रोज डेटा जुटा रहे हैं. लेकिन हाल ही में एक डेटा कोविड-19 का कॉन्वालैसेंट सेरा और भारत में उन लोगों के बारे में जानकारी जुटा रहा था, जिन्होंने कोवेक्सीन प्राप्त की है.' उन्होंने बताया 'पाया गया है कि यह 617 वैरिएंट्स को बेअसर कर रही है.' फॉसी ने कहा 'हम भारत में जो असल मुश्किल देख रहे हैं, उसके बावजूद टीकाकरण इसके खिलाफ बहुत ही अहम एंटीडोट साबित हो सकता है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज