• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • COVID 19 269 DOCTORS HAVE LOST THEIR LIVES IN THE SECOND WAVE SO FAR THE SITUATION IN BIHAR IS CRITICAL

COVID-19: दूसरी लहर में अब तक 269 डॉक्टर्स ने गंवाई जान, बिहार के हालात गंभीर

दूसरी लहर में अब तक 269 चिकित्सकों की मौत हो चुकी है.(प्रतिकात्मक तस्वीर)

Doctors Died due to Covid: आंध्र प्रदेश में 21, तेलंगाना में 19, महाराष्ट्र (Maharashtra) में 13, तमिलनाडु में 10, कर्नाटक और ओडिशा में 8-8, मध्य प्रदेश में 5, गोवा में 1, छत्तीसगढ़ और जम्मू-कश्मीर में 3-3 और चार राज्यों- असम, गुजरात, हरियाणा और केरल में 2-2 चिकित्सकों की मौत हो चुकी है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) के मरीजों को बचाने की मुहिम में लगे डॉक्टर भी इस घातक वायरस का शिकार हो रहे हैं. हाल ही में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association) की तरफ से साझा की गई जानकारी के अनुसार, दूसरी लहर के दौरान 269 चिकित्सक जान गंवा चुके हैं. इनमें से सबसे ज्यादा मौतें बिहार में हुईं. वहीं, रिपोर्ट्स बताती हैं कि इस सूची में उत्तर प्रदेश और राजधानी दिल्ली (Delhi) का नाम भी शामिल है.

    समाचार एजेंसी ने IMA के हवाले से लिखा कि संक्रमण की दूसरी लहर में अब तक 269 चिकित्सकों की मौत हो चुकी है. IMA के आंकड़ों के अनुसार, इस दौरान बिहार में 78 डॉक्टर्स ने अपनी जान गंवाई है. द हिंदू की रिपोर्ट बताती है कि उत्तर प्रदेश में यह आंकड़ा 34 है. जबकि, दिल्ली में 27 डॉक्टर अब तक जान गंवा चुके हैं. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस दौरान दिल्ली के 25 वर्षीय डॉक्टर अनस मिजाहिद जान गंवाने वाले सबसे युवा चिकित्सक हैं.

    कोरोनाः दूसरी लहर ने छीने 200 से ज्यादा डॉक्टर, बीते रविवार को हुई 50 डॉक्टरों की मौत



    अखबार से बातचीत में IMA के अध्यक्ष जेए जयलाल ने बताया, 'बीते साल हमने पूरे भारत में करीब 730 डॉक्टर्स खोए थे. इस साल थोड़े ही समय में हमने 244 चिकित्सक गंवा दिए हैं.' उन्होंने कहा, 'दूसरी लहर सभी के लिए काफी घातक साबित हो रही है. खासतौर से उनके लिए, जो फ्रंटलाइन में रहकर जंग लड़ रहे हैं. हमें सक्रिय होकर मेडिकल स्टाफ के बीच टीकाकरण का दायरा बढ़ाना होगा, ताकि वायरस के खिलाफ उनकी सुरक्षा को सुनिश्चित किया जा सके.'

    अन्य राज्यों में क्या हैं हाल
    रिपोर्ट बताती है कि आंध्र प्रदेश में 21, तेलंगाना में 19, महाराष्ट्र में 13, तमिलनाडु में 10, कर्नाटक और ओडिशा में 8-8, मध्य प्रदेश में 5, गोवा में 1, छत्तीसगढ़ और जम्मू-कश्मीर में 3-3 और चार राज्यों- असम, गुजरात, हरियाणा और केरल में 2-2 चिकित्सकों की मौत हो चुकी है. पीएम मोदी ने इस चर्चा के दौरान चिकित्सकों के टीकाकरण की बात पर भी जोर दिया. उन्होंने कहा कि देश के 90 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों को टीके का पहला डोज मिल चुका है. उन्होंने कहा कि वैक्सीन ने ज्यादातर चिकित्सकों की सुरक्षा सुनिश्चित की है.