Home /News /nation /

Coronavirus: कर्नाटक में मुहर्रम के दौरान जुलूस पर रोक, गणेश चतुर्थी पर नहीं सजेंगे पंडाल

Coronavirus: कर्नाटक में मुहर्रम के दौरान जुलूस पर रोक, गणेश चतुर्थी पर नहीं सजेंगे पंडाल

कर्नाटक सरकार ने राज्य में मुहर्रम के जुलूस पर रोक लगाने का फैसला किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: ANI)

कर्नाटक सरकार ने राज्य में मुहर्रम के जुलूस पर रोक लगाने का फैसला किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: ANI)

Karnataka Covid-19 Rules: राज्य में मस्जिद के अलावा कहीं भी प्रार्थना सभा नहीं रखी जा सकेंगी. मुहर्रम (Muharram) के मौके पर मस्जिद के अलावा सामुदायिक भवनों, खुले मैदानों, शादी महल आदि में प्रार्थना सभा का आयोजन करने की अनुमति नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    बेंगलुरु. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे को देखते हुए कर्नाटक सरकार (Karnataka Government) ने राज्य में मुहर्रम के जुलूस पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है. सरकारी आदेश के अनुसार, यह प्रतिबंध 12 अगस्त से 20 अगस्त तक जारी रहेगा. इसके अलावा सरकार ने गणेश चतुर्थी के दौरान भी पंडाल सजाने पर रोक लगा दी है. हाल ही में खबर आई थी कि कर्नाटक में 16 अगस्त के बाद आंशिक रूप से लॉकडाउन (Lockdown) लगाया जा सकता है. इसके अलावा राज्य में यात्रा को लेकर भी नए नियम लागू किए जा चुके हैं.

    समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, गुरुवार को सरकार की तरफ से जारी हुए आदेश में कहा गया है, ‘सभी तरह के जुलूसों पर 12 अगस्त से 20 अगस्त तक प्रतिबंध रहेगा. अलम/पंजा और ताजिया को बगैर छुए दूर से देख सकेंगे.’ इसके अलावा प्रार्थना को लेकर भी नए नियम जारी किए गए हैं. ‘प्रार्थना सभागारों में मास्क पहनना अनिवार्य है. सभी प्रार्थनाएं मस्जिदों में कोविड नियमों के कड़े पालन के साथ होंगी.’

    इस दौरान सरकार ने साफ कर दिया है कि मस्जिद के अलावा कहीं भी प्रार्थना सभा नहीं रखी जा सकेंगी. मुहर्रम के मौके पर मस्जिद के अलावा सामुदायिक भवनों, खुले मैदानों, शादी महल आदि में प्रार्थना सभा का आयोजन करने की अनुमति नहीं है.’ साथ ही कब्रिस्तान में कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं होंगे. 10 साल से कम और 60 वर्ष से ज्यादा के नागरिकों को घर में ही प्रार्थना करने के लिए कहा गया है.

    यह भी पढ़ें: भारत को मिलने वाली है नई वैक्सीन! सितंबर तक उपलब्ध हो सकती है स्पूतनिक लाइट

    गणेश चतुर्थी पर भी पाबंदियां
    गणेश चतुर्थी को लेकर भी राज्य सरकार ने कई नियम जारी किए हैं. सरकार ने त्योहार के दौरान पंडाल सजाने की अनुमति नहीं दी है. सरकारी आदेश में कहा गया है, ‘गणेश चतुर्थी पर कोई पंडाल नहीं लगाए जाएंगे. इसे सादगी से मनाया जाएगा. गणेश प्रतिमा लाने और विसर्जन के दौरान जुलूस/मनोरंजन कार्यक्रम आयोजित किए जा सकेंगे. गणेश गौरी प्रतिमाओं को केवल तय जगहों पर ही विसर्जित किया जा सकेगा.’

    सरकार ने साथ ही मंदिरों में सफाई की बात कही है. आदेश के मुताबिक, गणेश चतुर्थी का आयोजन कर रहे मंदिरों को प्रतिदिन सैनिटाइज किया जाना चाहिए. वहीं, श्रद्धालुओं को भी सैनिटाइजर का  इस्तेमाल करने के बाद ही मंदिर में आने की अनुमति मिलनी चाहिए. मंदिर प्रशासन को भी थर्मल चेकिंग की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है.

    Tags: COVID 19, Karnataka, Muharram Procession

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर