Covid-19: मॉडर्ना के साथ एक अरब डॉलर की डील के करीब सिप्ला, सरकार से मांगी ये चार रियायतें

सिप्ला ने कहा है कि कोविड- 19 के टीके को लेकर उसकी मॉडर्ना के साथ बातचीत पूरी होने के करीब है. (सांकेतिक तस्वीर)

सिप्ला ने कहा है कि कोविड- 19 के टीके को लेकर उसकी मॉडर्ना के साथ बातचीत पूरी होने के करीब है. (सांकेतिक तस्वीर)

Vaccination in India: सिप्ला (Cipla) ने कहा है कि कोविड- 19 के टीके को लेकर उसकी मॉडर्ना के साथ बातचीत पूरी होने के करीब है और इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये उन्हें सरकार के समर्थन और भागीदारी की आवश्यकता है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ भारत को जल्द ही एक और टीका मिलने की संभावना है. फार्मा कंपनी सिप्ला ने सरकार से मॉडर्ना (Moderna) के सिंगल डोज वैक्सीन बूस्टर को कुछ रियायतें देने की अपील की है. सिप्ला ने जानकारी दी है कि वे मॉडर्ना को एक अरब डॉलर की राशि एडवांस के रूप में देने के लिए तैयार हैं. सिप्ला ने इस संबंध में सरकार को पत्र लिखा है. इस पत्र में

सिप्ला ने सोमवार को सरकार से कुछ रियायतें देने का आग्रह करते हुये कहा है कि वह अमेरिका की इस कंपनी को एक अरब डालर अग्रिम राशि देने की तैयारी में है. सिप्ला ने सरकार से मॉडर्ना को किसी नुकसान की स्थिति में सुरक्षा देने, मूल्य सीमा तय करने से छूट देने के साथ साथ भारत में परीक्षण की शर्त और बेसिक कस्टम ड्यूटी में रियायत देने का आग्रह किया है.

सिप्ला ने कहा है कि कोविड- 19 के टीके को लेकर उसकी मॉडर्ना के साथ बातचीत पूरी होने के करीब है और इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये उन्हें सरकार के समर्थन और भागीदारी की आवश्यकता है. कंपनी ने देश में टीके की उपलब्धता बढ़ाने के लिये सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना भी की है ताकि कोरोना वायरस के खिलाफ प्रभावी सुरक्षा उपलब्ध कराई जा सके.

यह भी पढ़ें: कप्पा और डेल्टा: WHO ने भारत में मिले कोरोना वैरिएंट्स को दिए नाम
इस समूचे घटनाक्रम से जुड़े सूत्र ने बताया कि सिप्ला ने सरकार से चार बिंदुओं पर सहमति की पुष्टि करने को कहा है. पहला बिंदु है मूल्य को लेकर कोई रोकटोक नहीं होगी. दूसरा नुकसान होने पर सुरक्षा दी जायेगी. टीके के भारत में परीक्षण से छूट और चौथा मूल सीमा शुल्क से छूट दी जायेगी. सिप्ला ने कहा है कि सरकार की ओर से इन बिंदुओं पर सहमति मिल जाने के साथ ही वह मॉडर्ना के साथ एक अरब डालर (7,250 करोड़ रुपये से अधिक) का अग्रिम देने का करार कर लेगी.


हाल ही में हुई उच्चस्तरीय बैठक के बाद सिप्ला ने 29 मई को सरकार से यह आग्रह किया है. हाल में उच्चस्तरीय बैठक में मॉडर्ना के एक खुराक वाले टीके को देश में जारी करने को लेकर विचार विमर्श किया गया था. इसके लिये कहा गया था मॉडेर्ना सिप्ला और अन्य भारतीय कंपनियों के साथ बातचीत कर रही है.



(भाषा इनपुट के साथ)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज