मौजूदा कोरोना संकट स्वच्छ ऊर्जा की ओर जाने के लिए एक अवसर: गोयल

वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल
वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल

वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल (Commerce Minister Piyush Goyal) कहा कि भारतीय रेलवे का लक्ष्य दिसंबर, 2023 तक 100 प्रतिशत विद्युतीकरण और 2030 तक शून्य उत्सर्जक बनने का है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 12:22 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल (Commerce Minister Piyush Goyal) ने सोमवार को कहा कि मौजूदा कोविड-19 संकट (Covid-19 Tragedy) स्वच्छ ऊर्जा की ओर बदलाव के लिए एक अवसर है. गोयल के पास रेल मंत्रालय का भी प्रभार है. उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे का लक्ष्य दिसंबर, 2023 तक 100 प्रतिशत विद्युतीकरण और 2030 तक शून्य उत्सर्जक बनने का है.

'खुद को एक जुझारू तथा सतत भविष्य के लिए तैयार कर सकते हैं'
सोमवार को जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार गोयल ने ‘कोविड-19 के बाद सतत पुनरोद्धार’ पर एक रिपोर्ट को पेश किए जाने के मौके पर 18 सितंबर को यह बात कही. यह रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी (आईईए) तथा नीति आयोग ने तैयार की है. मंत्री ने कहा, ‘यह सही समय है जबकि हम आगे बढ़कर खुद को एक जुझारू तथा सतत भविष्य के लिए तैयार कर सकते हैं. रिपोर्ट में यही उल्लेख किया गया है. मौजूदा संकट का इस्तेमाल स्वच्छ ऊर्जा की ओर सुगम, तेज और जुझारू तरीके से रुख करने के किया जा सकता है.’

'हरित पहल का हिस्सा करीब 16 प्रतिशत'
इसी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कान्त ने कहा कि 2008-09 के वित्तीय संकट के बाद कुल प्रोत्साहन उपायों में हरित पहल का हिस्सा करीब 16 प्रतिशत है. उन्होंने कहा, ‘महामारी से उबरने के लिए हमें स्वच्छ निवेश के लिए अधिक महत्वाकांक्षी और निर्णायक होना चाहिए.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज