कोरोना काल में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई के बाद दिल्ली की कोर्ट ने कपल को दिया तलाक

कोरोना काल में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई के बाद दिल्ली की कोर्ट ने कपल को दिया तलाक
कोरोना वारयस के दौर में दिल्ली की रोहिणी कोर्ट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई के बाद कपल को डायवोर्स प्रदान किया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रोहिणी फैमिली कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को आधार बनाकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई के वक्त कपल को तलाक देने का निर्णय सुनाया

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना महामारी (COVID-19) से पहले शादीशुदा लोगों को डायवोर्स (तलाक) लेने के लिए निचली अदालत के चक्कर लगाने पड़ते थे. तब डायवोर्स केस (Divorce Case) का फैसला आने में काफी समय लग जाता था. लेकिन, अब कोरोना महामारी के वक्त दिल्ली (Delhi) के रोहिणी कोर्ट (Rohini Court) में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक कपल को डायवोर्स (Divorce) मिल गया है. मिली जानकारी के मुताबिक मई 2017 में इस कपल ने शादी की थी और कुछ महीने साथ रहने के बाद दोनों अलग हो गए थे. दिसंबर 2018 से यह दंपति अलग-अलग रह रहा था. 2019 में उन्होंने डायवोर्स केस फाइल किया था.

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि डायवोर्स केस में अगर कोई कपल एक साल से ज्यादा समय से अलग रह रहे हैं तो कोर्ट आपसी रजामंदी से डायवोर्स दे सकती है. रोहिणी फैमिली कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को आधार बनाकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई के वक्त कपल को तलाक देने का निर्णय सुनाया.

बता दें कि डायवोर्स देने से पहले रोहिणी फैमिली कोर्ट ने कपल को री-कॉन्सलिंग के लिए भी भेजा लेकिन उनके बीच किसी तरह का समझौता नहीं हो सका, और वो दोबारा कोर्ट में आकर डायवोर्स मांगने लगे. जिसके बाद कोर्ट ने आखिरकार उन्हें डायवोर्स दे दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज