ICMR सर्वे के शुरुआती नतीजे- देश के इन इलाकों में बेहद कम रहा है कोरोना का असर

ICMR सर्वे के शुरुआती नतीजे- देश के इन इलाकों में बेहद कम रहा है कोरोना का असर
सपा सरकार में राज्यमंत्री रह चुके हैं ललई यादव. (प्रतीकात्मक फोटो)

इस सर्वे के लिए देश के 21 राज्यों के 69 जिलों से बीते महीने ब्लड सैंपल (Blood Samples) लिए गए थे. इसके अलावा अतिरिक्ति पांच हजार सैंपल उन दस शहरों से लिए हैं जहां पर कोरोना का व्यापक प्रभाव है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 10, 2020, 10:31 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा कोरोना वायरस का प्रभाव जानने के लिए गए सर्वे में पता चला है कि देश के ज्यादातर ग्रीन जोन (Green Zone) महामारी से बहुत कम प्रभावित हैं. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस सर्वे के शुरुआती नतीजों से परिचित एक सरकारी अधिकारी ने यह बात कही है. हालांकि उस अधिकारी ने अपनी पहचान गोपनीय रखी है. इस सर्वे के लिए देश के 21 राज्यों के 69 जिलों से बीते महीने ब्लड सैंपल लिए गए थे. इसके अलावा अतिरिक्ति पांच हजार सैंपल उन दस शहरों से लिए हैं जहां पर कोरोना का व्यापक प्रभाव है.

सभी नतीजों का करना होगा इंतजार
सरकारी अधिकारी के मुताबिक, सर्वे में सामने आया है कि देश भर के ग्रीन जोन में मोटे तौर पर कोरोना का बेहद कम प्रभाव सामने आया है. उनके मुताबिक-जब तक सैंपल के सभी सर्वे सामने न आ जाएं किसी निष्कर्ष पर पहुंचना मुश्किल है. अभी पश्चिम बंगाल और जम्मू-कश्मीर जैसे राज्यों में टेस्ट किए जाने बाकी हैं. हालांकि अभी तक जो कुछ सामने आया है वो बहुत खतरनाक नहीं दिख रहा है. समस्या की बात तब थी अगर इन टेस्ट्स में ग्रीन जोन इलाकों में बड़े स्तर पर लोगों के शरीर में एंटी बॉडी सामने आती. अभी तक इस तरह का कोई ट्रेंड नहीं दिखाई दिया है, लेकिन उन्होंने कहा कि आखिरी तस्वीर तभी साफ होगी जब सभी रिजल्ट सामने आ जाएंगे.

15 से 30 प्रतिशत आबादी के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट गलत
इससे पहले आईसीएमआर ने उन रिपोर्ट्स पर स्पष्टीकरण दिया है जिनमें कहा गया था कि इस सर्वे के दौरान देश के विभिन्न कंटेनमेंट जोन में 15-30 प्रतिशत आबादी कोरोना वायरस संक्रमित हो चुकी है. संस्था ने कहा है कि वो रिपोर्ट काल्पनिक हैं और अभी फाइनल नतीजे सामने नहीं आए हैं. जब तक इस सर्वे के सभी नतीजे नहीं आ जाते तक कोई भी बात स्पष्ट रूप से कहना मुश्किल है.



अब भी जारी है डेटा विश्लेषण
आईसीएमआर के स्पोक्सपर्सन रजनीकांत श्रीवास्तव के मुताबिक-'चेन्नई की लैब में अभी हमारे एक्सपर्ट्स लगातार डेटा का विश्लेषण कर रहे हैं. अभी तक नतीजे फाइनल नहीं हुए हैं. पूरे देश के बारे में कोई नतीजा बताना अभी जल्दीबाजी होगी. हम नतीजों के आधार पर ही बात करेंगे किसी काल्पनिक विचार पर नहीं.'

ये भी पढ़ें:

कोरोना पर ICMR की गाइडलाइन से पहले ही जलगांव ने दिखाई सूझबूझ, सामने आए कई केस

PM Kisan Scheme की नई लिस्ट जारी! ऐसे चेक करें अपना नाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज