कोरोना में लापरवाही की वजह से जिनकी जान गई, उन्हें महाराष्ट्र सरकार दे मुआवजा : बॉम्बे HC

बीजेपी विधायक आशीष शेलार की जनहित याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा.
बीजेपी विधायक आशीष शेलार की जनहित याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा.

बॉम्बे HC ने कहा है कि महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) को कोरोना काल में लापरवाही की वजह से जान गंवाने वालों के परिवार को मुआवजा देना चाहिए. ये जनहित याचिका भारतीय जनता पार्टी के विधायक आशीष शेलार ने दाखिल की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 7:29 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने एक जनहित याचिका (PIL) पर सुनवाई करते हुए कहा है कि महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) को कोरोना काल में लापरवाही की वजह से जान गंवाने वालों के परिवार को मुआवजा देना चाहिए. ये जनहित याचिका भारतीय जनता पार्टी के विधायक आशीष शेलार ने दाखिल की है. आशीष ने अपनी याचिका में ऐसी 11 घटनाओं का जिक्र किया था जिसमें अस्पताल प्रशासन द्वारा कोविड-19 मृतकों के पार्थिव शरीर का उचित तरीके से प्रबंधन नहीं किया गया है.

केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों का किया जिक्र
इस पर फैसला देते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को मार्च में केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देश का हवाला दिया. साथ ही 16 सितंबर को कलकत्ता हाईकोर्ट द्वारा दिए गए निर्देशों का भी जिक्र किया गया. हाईकोर्ट ने आशीष शेलार द्वारा बताई गईं 11 घटनाओं के संबंध में राज्य सरकार को आगामी 4 नवंबर तक जवाब दाखिल करने को भी कहा है.

राज्य सरकार दाखिल करे जवाब
दरअसल ये याचिका उस वीडियो के वायरल होने के बाद दायर की गई है जिसमें कोरोना मरीजों का अस्पताल के उस वार्ड में इलाज किया जा रहा है जहां पर वायरल इन्फेक्शन का भी इलाज चल रहा है. याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस दीपांकर दत्ता और जस्टिस एनजे जमादार ने राज्य सरकार से जवाब दाखिल करने को कहा है.



भारत में सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र
गौरतलब है कि देश में महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य रहा है. अकेले महाराष्ट्र में करीब साढ़े 14 लाख कोरोना के मामले सामने आए हैं. इनमें करीब साढ़े 11 लाख रिकवर भी हो चुके हैं. इस वक्त करीब ढाई लाख एक्टिव केस हैं. अकेले महाराष्ट्र में महामारी की वजह से 38 हजार से ज्यादा लोगों ने जान गंवाई है. कोरोना से बुरी तरह प्रभावित रही मुंबई में डेथ रेट को लेकर भी कई बार चिंता जाहिर की जा चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज