Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    कोरोना पर केंद्र अलर्ट; हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और मणिपुर में केंद्रीय टीमें तैनात

    देश में आज कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आए हैं. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)
    देश में आज कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आए हैं. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)

    COVID-19: दिल्‍ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में वृद्धि के साथ ही मृत्‍यु दर में भी वृद्धि दर्ज की गई है. इसके प्रभाव से हरियाणा और राजस्‍थान में भी कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 19, 2020, 5:05 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सरकार ने हरियाणा (Haryana), गुजरात (Gujarat), राजस्‍थान (Rajasthan) और मणिपुर (Manipur) में उच्‍च स्‍तरीय केंद्रीय टीमों को तैनात किया है. यह टीम राज्‍यों में कोविड-19 (COVID-19) की स्थिति का जायजा लेंगी. साथ ही कंटेनमेंट जोन की स्थिति, कोरोना जांच, संक्रमण की रोकथाम और कुशल दैनिक प्रबंधन को मजबूत करने में सहायता भी करेंगी. मणिपुर में भी महामारी के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. बता दें कि दिल्‍ली (Delhi) में कोरोना के मामलों में वृद्धि के साथ ही मृत्‍यु दर में भी वृद्धि दर्ज की गई है. इसके प्रभाव को देखते हुए हरियाणा और राजस्‍थान की स्थिति पर भी नजर रखी जा रही है.

    स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा कि एम्‍स के निदेशक डॉक्‍टर रणदीप गुलेरिया हरियाणा में तीन सदस्‍यीय टीम का नेतृत्‍व करेंगे. वहीं नीति आयोग के सदस्‍य (स्‍वास्‍थ्‍य) डॉक्‍टर वीके पॉल राजस्‍थान की टीम की अगुआई करेंगे. जबकि एनसीडीसी के निदेशक डॉक्‍टर एसके सिंह गुजरात की टीम का नेतृत्‍व करेंगे. वहीं डीएचजीएस के एडिशनल डीडीजी डॉक्‍टर एल स्‍वस्तिकरण मणिपुर की टीम को हेड करेंगे. केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई टीमें कोरोना वायरस के हाई रिस्‍क वाले जिलों का दौरा करेंगी. यह कोरोना के मामलों की निगरानी, रोकथाम, नियंत्रण के उपायों और कोरोना संक्रमण के दैनिक प्रबंधन को मजबूत करने की दिशा में राज्‍य सरकारों का सहयोग करेंगी. ये दल कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों के प्रभावी चिकित्सकीय प्रबंधन में भी सहायता करेंगे.

    देश में कोविड-19 के 45,576 नए मामले, 585 और लोगों की मौत
    देश में एक दिन में कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 89.58 लाख हो गए. वहीं 83.83 लाख से अधिक लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 93.58 प्रतिशत हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में यह जानकारी दी गयी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के अनुसार देश में एक दिन में कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 89,58,483 हो गए. वहीं 585 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,31,578 हो गई.
    ये भी पढ़ें: PHOTOS: दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमितों के बीच सरोजनी नगर मार्केट में उमड़ी लोगों की भीड़, यहां देखें अव्यवस्था का हाल



    ये भी पढ़ें: बड़ी खबर: दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर लगेगा 500 की जगह 2 हजार रुपये जुर्माना, आदेश जारी

    इसके अनुसार देश में लगातार नौवें दिन उपचाराधीन लोगों की संख्या पांच लाख से कम है. आंकड़ों के अनुसार देश में अभी 4,43,303 लोगों का कोरोना वायरस का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 4.95 प्रतिशत है. देश में कुल 83,83,602 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही मरीजों के ठीक होने की दर 93.58 प्रतिशत हो गई. वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.47 प्रतिशत है. भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख के पार चली गई थी. वहीं, कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख और 29 अक्टूबर को 80 लाख के पार चले गए थे.

    भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार 18 नवंबर तक कुल 12,85,08,389 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई, जिनमें से 10,28,203 नमूनों का परीक्षण बुधवार को ही किया गया. आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिन 585 लोगों की मौत हुई, उनमें से दिल्ली के 131 लोग, महाराष्ट्र के 100, पश्चिम बंगाल के 54, पंजाब के 31, हरियाणा के 30, उत्तर प्रदेश के 29, केरल के 28, छत्तीसगढ़ के 23 और कर्नाटक के 21 लोग थे. मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में वायरस से अभी तक कुल 1,31,578 लोगों की मौत हुई है. इनमें से महाराष्ट्र के 46,202 , कर्नाटक के 11,578 , तमिलनाडु के 11,531, दिल्ली के 7,943, पश्चिम बंगाल के 7,820, उत्तर प्रदेश के 7,441, आंध्र प्रदेश के 6,899, पंजाब के 4,541 और गुजरात के 3,823 लोग थे. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि जिन लोगों की मौत हुई , उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मामलों में मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं. मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का आईसीएमआर के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज