• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • COVID 19 IN MAY DEATH RATE DOUBLED IN THESE STATES INCLUDING DELHI

Covid-19: मई जैसे बुरे हाल अब तक नहीं देखे, दिल्ली समेत इन राज्यों में दोगुनी रही मृत्यु दर

ऐसे कम से 9 राज्य और केंद्रशासित प्रदेश हैं, जहां मई में सबसे ज्यादा लोगों ने जान गंवाई. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Reuters)

Covid-19 Death Rate: मई के महीने में राजधानी दिल्ली में 8 हजार 90 मौतें हुईं, जिससे CFR दर 2.92 प्रतिशत पर पहुंच गई. उस दौरान 4.2 प्रतिशत के साथ अंडमान-निकोबार द्वीप और 3.4 फीसदी के नगालैंड ही दो राज्य थे, जहां मृत्यु दर काफी ज्यादा थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी को डेढ़ साल से ज्यादा का समय बीत चुका है, लेकिन इस दौरान देश ने सबसे बुरा दौर इस साल मई में देखा. संक्रमण के नए मरीज और मौतों के लिहाज से यह महीना बेहद घातक साबित हुआ. बड़े राज्यों में मई के महीने में राजधानी दिल्ली के हालात सबसे ज्यादा खराब रहे. यहां कोविड डेथ रेट यानी CFR 2.9 प्रतिशत रहा. इसके अलावा पंजाब, उत्तराखंड, महाराष्ट्र (Maharashtra) समेत कई राज्यों में हालात बेकाबू नजर आए थे.

    दिल्ली में मई में CFR 2.9 फीसदी रहा. यह उस दौरान राष्ट्रीय औसत 1.3 प्रतिशत की तुलना में दोगुने से ज्यादा था. दिल्ली के अलावा पंजाब में यह आंकड़ा 2.8 और उत्तराखंड में 2.7 फीसदी रहा. मई में पूरे भारत में मौत के 1 लाख 19 हजार 183 मामले दर्ज किए गए. यह आंकड़ा दुनिया में सबसे ज्यादा था.

    मई में राजधानी में 8 हजार 90 मौतें हुईं, जिससे CFR दर 2.92 प्रतिशत पर पहुंच गई. उस दौरान 4.2 प्रतिशत के साथ अंडमान और निकोबार द्वीप और 3.4 फीसदी के नगालैंड ही दो राज्य थे, जहां मृत्यु दर काफी ज्यादा थी. खास बात यह है कि कम से कम 9 राज्य और केंद्रशासित प्रदेश ऐसे हैं, जहां बीते सभी महीनों की तुलना में मई में सबसे ज्यादा लोगों ने जान गंवाई.

    यह भी पढ़ें: सरकार ने तय किया अनलॉक का नियम, कहा- कोरोना की तीसरी लहर को रोकना जरूरी

    असम में कुल 3 हजार 365 मौतें हुई, जिसमें से 2 हजार 58 यानि 61 फीसदी केवल मई में ही दर्ज की गईं. उत्तराखंड में मई में यह आंकड़ा 59 फीसदी, गोवा में 56 प्रतिशत, हिमाचल में 53 प्रतिशत और बिहार में 50 फीसदी से थोड़ा ज्यादा रहा. मई में मौतों के मामले में दिल्ली चौथे स्थान पर रहा. इस दौरान महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 26 हजार 531 लोगों ने जान गंवाई. यह राज्य की कुल मौतों का 28 प्रतिशत है.

    महाराष्ट्र में मई में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा 11.4 लाख मरीज मिले. इसके बाद कर्नाटक में 10.8 लाख और केरल में 9.6 लाख मामले सामने आए. हालांकि, सबसे कम डेथ रेट के मामले में केरल दूसरे नंबर पर रहा. मई में ओडिशा में सबसे कम CFR 0.22 फीसदी दर्ज किया गया. राज्य में 3.2 लाख मरीज मिले. जबकि, 711 मरीजों की मौत हुई.