लाइव टीवी

Covid-19: भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 6412

News18Hindi
Updated: April 11, 2020, 10:11 PM IST
Covid-19: भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 6412
भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 5,865 हो गई है, जबकि 169 लोगों की मौत हो चुकी है.

इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) की टीम ने 15 फरवरी और 2 अप्रैल के बीच कोविड-19 से संक्रमित 5,911 मरीजों की जांच की. इसमें से 104 मरीजों कोरोना पॉजिटिव (Coronavisus) पाए गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2020, 10:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन से दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) का असर अब भारत में तेजी से देखने को मिल रहा है. भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 6412 हो गई है, जबकि 199 लोगों की मौत हो चुकी है. इन सबके बीच इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने देश को संकट के संकेत दिए हैं. हालांकि ICMR ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि भारत में खतरा न के बराबर है.

इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) की टीम ने 15 फरवरी और 2 अप्रैल के बीच कोविड-19 से संक्रमित 5,911 मरीजों की जांच की. इसमें से 104 मरीजों कोरोना पॉजिटिव पाए गए. ये सभी मरीज 20 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशा के 52 जिलों से थे. जांच में इन पॉजिटिव मरीजों में से 40 मरीजों ने कभी विदेश यात्रा नहीं की और न ही इनका संबंध कभी किसी विदेशी यात्री से रहा. 15 राज्यों के 36 जिलों में ऐसे मरीजों में कोरोना का संक्रमण देखने को मिला जिनकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं थी.

गुजरात में 792 गंभीर रूप से बीमार लोगों की जांच की गई. इनमें से 13 मामले कोरोना पॉजिटिव पाए गए. तमिलनाडु में 577 मरीजों की जांच की गई जिसमें से 5 मरीजों में कोविड-19 सक्रिय था. महाराष्ट्र में 553 मरीजों में से 21 में कोरोना पॉजिटिव पाया गया. इसी तरह केरल 502 मरीजों में 1 मरीज करोना पॉजिटिव मिला.



ICMR की रिपोर्ट में कहा गया है जिन जिलों में इस तरह के मरीज ज्यादा देखने को मिल रहे हैं वहां और ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. कोरोना के खतरे को लेकर ICMR ने जब 14 मार्च को अपनी रिपोर्ट दी थी तब उसने कम्युनिटी ट्रांसमिशन के खतरे को पूरी तरह से नकार दिया था लेकिन अब जो रिपोर्ट सौंपी गई है वह अच्छे संकेत नहीं दे रही है.



इसे भी पढ़ें  :-  Covid 19: भारत में एक दिन में कोरोना के 781 नए केस, जानें क्या है आपके राज्य का हाल

क्या होता है कम्युनिटी ट्रांसमिशन :-
ये तब होता है जब वायरस सोसायटी में घुसकर बहुत बड़ी संख्या में लोगों को बीमार करने लगे. कमजोर इम्युनिटी वाले मरीजों की मौत होने लगे. लेकिन साथ ही साथ एक बार बीमार हो चुके लोगों में इसके लिए इम्युनिटी पैदा हो जाए और आखिर में वायरस कुछ न कर सके. इसे प्रतिरक्षा का सिद्धांत कहते हैं. कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू होते ही ये हालात आते ही हैं. रोग प्रतिरक्षा पैदा होने में कितना वक्त लगता है ये कई बातों पर निर्भर है. जैसे बीमारी कितनी तेजी से फैल रही है. इम्युनिटी पैदा होने में आमतौर पर 6 महीने से लेकर 1 साल का वक्त लगता है. अभी तक SARS-CoV2 के मामले में वैज्ञानिक ये बता नहीं सके हैं.

इसे भी पढ़ें :-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 10, 2020, 9:04 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading