अपना शहर चुनें

States

Lockdown के बीच ITBP के इस जवान का यह कोरोना गीत आपके दिल को छू जाएगा..

आईटीबीपी के हेड कांस्‍टेबल अर्जुन खेरियल द्वारा गाए गए इस गीत को मनोज मुन्तशिर ने लिखा है.
आईटीबीपी के हेड कांस्‍टेबल अर्जुन खेरियल द्वारा गाए गए इस गीत को मनोज मुन्तशिर ने लिखा है.

आईटीबीपी (ITBP) हेड कांस्‍टेबल अर्जुन (Arjun) ने यह गीत देश के कोरोना योद्धाओं (Corona warriors) को समर्पित किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2020, 1:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवान हेड कांस्टेबल अर्जुन खेरियल ने अक्षय कुमार की फिल्म केसरी के ‘तेरी मिट्टी...’ गीत का एक परिष्कृत रूप प्रस्तुत करते हुए इसे देश के कोरोना सिपाहियों को समर्पित किया है. 3 मिनट 31 सेकंड के इस गीत में अर्जुन ने आईटीबीपी के कोरोना के खिलाफ लड़ाई को शब्दों में बयान किया है. साथ ही, उन्‍होंने यह गीत उन सभी सुरक्षाकर्मियों, पुलिस बलों, चिकित्सा कर्मियों सहित उन सभी को समर्पित किया है, जो दिन रात इस वैश्विक महामारी से जूझ रहे हैं.

आईटीबीपी ने तैयार किया था देश का पहला क्‍वारंटाइन सेंटर
आईटीबीपी ने कोरोना के देश में प्रारंभिक प्रसार के पहले ही देश का पहला 1000 बिस्तरों का क्वारंटाइन सेंटर नई दिल्ली के छावला इलाके में स्थापित किया था. इसने लगभग 1200 लोगों के अलग-अलग दलों को यहां क्वारंटाइन में रखा गया था. क्‍वारंटाइन किए ग लोगों में 7 मित्र देशों के 42 नागरिक भी शामिल थे. इनमें से ज्यादातर लोग वुहान, चीन और मिलान व रोम, इटली से लाए गए थे.





पीपीई किट को समस्‍या का दूर करने में भी ITBP की भूमिका अहम
आईटीबीपी ने स्वयं के संसाधनों से पीपीई किट और मास्क न केवल तैयार किया है, बल्किर कई संगठनों को निःशुल्क वितरित भी किया है. आईटीबीपी ने देश के दूर दराज़ के इलाकों में लॉकडाउन की परिस्थितियों में रसद और आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई जारी रखने में मदद की है. साथ ही, हजारों लोगों तक भोजन और अन्य सामग्री भी स्वयं उपलब्ध करवाया है.

 ITBP के इस गाने में भावुकता, राष्ट्र प्रेम और आत्मविश्वास की झलक
गाने में भावुकता, राष्ट्र प्रेम और आत्मविश्वास की झलक देखने को मिलती है, जो आईटीबीपी समेत केंद्रीय बलों की जीवटता और राष्ट्रीय विपदा की घड़ी में उनके साहस, त्याग और बलिदान को भी दर्शाता है. गीत को गीत रचनाकार मनोज मुन्तशिर ने लिखा है और इसे आईटीबीपी द्वारा ही तैयार किया गया है.

यह भी पढ़ें: 

सासाराम में गहराया COVID-19 का खतरा, 5 दिनों में 1 से 31 हुए कोरोना संक्रमित मरीज

COVID-19 ने बिगाड़ी चीनी मिलों की आर्थिक सेहत, 18000 करोड़ तक पहुंचा किसानों का बकाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज