Lockdown: मजदूरों के पलायन पर जागी सरकार, गृह मंत्रालय ने राज्यों को जारी की एडवाइजरी

   (प्रतीकात्मक तस्वीर)
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान मजदूरों (Labour) के पलायन को रोकने के लिए गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी करके मदद करने का निर्देश दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) से खतरे को देखते हुए देश में लागू लॉकडाउन की वजह से प्रवासी कामकार और मजदूर पलयान कर रहे हैं. दिल्ली समेत कई राज्यों से मजदूर पैदल ही अपने घर लौट रहे हैं. ऐसे में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान बड़े पैमाने पर हो रहे इस पलायन को रोकने लिए गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने शुक्रवार सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी की है.

गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भेजे गई एडवाइजरी में कहा कि वे छात्रावासों और कामकाजी महिला छात्रावासों में आवश्यक वस्तुओं की अबाध आपूर्ति सुनिश्चित करें ताकि ऐसे लोग जहां हैं, वहीं बने रहें. मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया, ‘गृह मंत्रालय ने राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को परामर्श जारी किया है कि वे प्रवासी कृषि मजदूरों, उद्योगों में लगे कामगारों और असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के बड़े पैमाने पर हो रहे पलायन को रोकें, ताकि कोरोना वायरस से संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके.’

गेहूं, चावल और दाल उपलब्ध करा रही सरकार



राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को यह भी एडवाइजरी जारी की गई है कि वे इस वंचित तबके को सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी दें, उन्हें बताएं कि सरकार राशन की दुकानों पर नि:शुल्क गेहूं, चावल और दाल उपलब्ध करा रही है. प्रवक्ता ने कहा, ‘यह ऐसे लोगों के पलायन को रोकने में मदद करेगा.’
गृह मंत्रालय ने यह भी परामर्श दिया है कि राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश सुनिश्चित करे कि सभी होटल, किराए के मकान, कमरे और छात्रावास आदि संचालित होते रहे और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सही तरीके से हो ताकि छात्र और कामकाजी महिला छात्रावासों में रहने वाले लोग जहां हैं वहीं बने रहें.

घर लौट रहे हैं मजदूर

कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंगलवार को 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद बड़े पैमाने पर प्रवासी कामगार पैदल ही अपने घर जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें-

Lockdown: मुंबई में हर दिन 800 जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाता है ये मुस्लिम परिवार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज