COVID-19: पश्चिम बंगाल विधानसभा के मानसून सत्र को घटा कर 1 दिन का किया गया

COVID-19: पश्चिम बंगाल विधानसभा के मानसून सत्र को घटा कर 1 दिन का किया गया
दो दिन की बजाय केवल एक दिन चलेगा पश्चिम बंगाल का मानसून सत्र

Monsoon session of West Bengal Assembly: टीएमसी (TMC) के सूत्रों के अनुसार, पहले यह तय किया गया था कि 9 सितंबर से 2 दिवसीय मानसून सत्र होगा. लेकिन मंगलवार को सर्वदलीय बैठक के दौरान इस निर्णय को बदल दिया गया. एक केवल एक दिन ही सदन चलेगा.

  • Share this:
कोलकाता. कोविड-19 महामारी (COVID-19 Epidemic) के कारण पश्चिम बंगाल विधानसभा (West Bengal Assembly) के मानसून सत्र (Monsoon Session) को नौ सितंबर को केवल एक दिन के लिए आयोजित किया जाएगा. विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. टीएमसी (TMC) के सूत्रों के अनुसार पहले यह तय किया गया था कि नौ सितंबर से दो दिवसीय सत्र होगा. किंतु मंगलवार को सर्वदलीय बैठक के दौरान निर्णय बदल दिया गया और अब सदन का सत्र एक दिन का होगा.

बनर्जी ने कहा कि हम नहीं चाहते कि लोग अधिक समय तक विधानसभा में रहें. इसलिए यह तय किया गया है कि सदन को कुछ आवश्यक औपचारिकता के बाद स्थगित कर दिया जाएगा.

दुर्गा पूजा पर नहीं हुआ फैसला, गलत हुई तो जनता के सामने करूंगी ऊठक-बैठक: ममता



पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि दुर्गा पूजा को लेकर यदि उनकी बात गलत साबित हुई तो वह जनता के सामने 101 बार ऊठक-बैठक करेंगी. ममता बनर्जी ने दुर्गा पूजा को लेकर उड़ाई जा रही अफवाह के संदर्भ में पुलिस दिवस के मौके पर ये बात कही. ममता ने कहा कि एक राजनीतिक पार्टी दुर्गा पूजा को लेकर भद्दी अफवाहें फैला रही है. ममता ने कहा कि जहां तक सवाल है हमने फिलहाल इस बारे में कोई बैठक नहीं की है. ममता ने कहा कि इस बात को साबित करें कि पश्चिम बंगाल सरकार ने कहा है कि इस साल दुर्गा पूजा नहीं होगी, मैं जनता के सामने 101 बार ऊठक-बैठक करूंगी.
बता दें सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है कि इस साल राज्य में दुर्गा पूजा आयोजित नहीं की जाएगी. इस संबंध में पश्चिम बंगाल पुलिस ने खंडन भी जारी किया है जिसमें बताया गया है कि "इस संबंध में फिलहाल कोई फैसला नहीं किया गया है ऐसे में इस मैसेज को फॉरवर्ड न करें." पुलिस का कहा है कि वह इस मामले के आरोपियों को ढूंढ रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज