अपना शहर चुनें

States

कोविड-19: ओडिशा पुलिस ने मास्क न पहनने वालों से जुर्माने के तौर पर वसूले 1.25 करोड़ रुपये

ओडिशा पुलिस ने कोविड-19 की रोकथाम के लिये बनाये नियमों का पालन न करने वालों से करोड़ों का जुर्माना वसूला है (सांकेतिक फोटो, PTI)
ओडिशा पुलिस ने कोविड-19 की रोकथाम के लिये बनाये नियमों का पालन न करने वालों से करोड़ों का जुर्माना वसूला है (सांकेतिक फोटो, PTI)

पुलिस महानिदेशक (DGP) अभय ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की अध्यक्षता में हुई एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में भाग लेने के दौरान यह बात बताई.

  • Share this:
भुवनेश्वर. ओडिशा पुलिस के महानिदेशक ने शुक्रवार को बताया कि ओडिशा पुलिस (Odisha Police) ने सार्वजनिक स्थानों (Public place) पर बिना फेस मास्क (Face Mask) के साथ पकड़े गए लोगों से 1.25 करोड़ रुपये की राशि वसूली है.

पुलिस महानिदेशक (DGP) अभय ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) की अध्यक्षता में हुई एक वीडियो कॉन्फ्रेंस (Video Conference) में भाग लेने के दौरान यह बात बताई. बैठक में भाग लेते हुए, डीजीपी ने बताया कि ओडिशा पुलिस ने फेस मास्क के अनिवार्य उपयोग के नियम का उल्लंघन करने वाले लोगों से 1,25,84,180 रुपये जुटाए हैं.

बार-बार फेस मास्क नियमों का उल्लंघन करने पर 1 हजार का जुर्माना
ओडिशा में राज्य सरकार ने मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है. अधिकारी ने कहा, उल्लंघनकर्ताओं के लिए जुर्माना राशि 200 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये कर दी गई है. फेस मास्क (Face Mask) के बार-बार उल्लंघन करने पर जुर्माने की राशि बढ़ाकर 1,000 रुपये कर दी गई है.
डीजीपी ने यह भी बताया कि राज्य सरकार की ओर से लगाए गये रात के कर्फ्यू नियमों का उल्लंघन करने वालों से 1,03,800 रुपये का और सामाजिक दूरी (Social Distancing) के नियमों का उल्लंघन करने वालों से 11,74,350 रुपये वसूले गए हैं. डीजीपी ने कहा कि पुलिस ने 11 जिलों में लागू सप्ताहांत शटडाउन नियमों के उल्लंघनकर्ताओं से भी 3,000 रुपये का जुर्माना वसूला है.



उन्होंने कहा कि अपने नियमित कामों को करने के अलावा, ओडिशा पुलिस (Odisha Police) के जवान मास्क के उपयोग, सामाजिक दूरी और बार-बार हाथ धोने की आदत को लेकर लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने में लगे हुए हैं.

प्रवासियों को पुलिस अपने वाहनों से सीमा तक पहुंचा रही है
डीजीपी ने "अंतर-राज्यीय प्रवासियों (Inter-state migrants) के लिए ओडिशा के अंदर पैदल नहीं चलने" पर मुख्यमंत्री की ओर से जारी एक निर्देश को लागू करते हुए कहा कि पुलिस ने विभिन्न वाहनों में 524 यात्राएं कीं, जिनमें 24,587 लोगों को राज्य के विभिन्न सीमा बिंदुओं तक पहुंचाया गया.

पुलिसकर्मी 3 मई से विभिन्न राज्यों से लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों के वापस आने पर राज्य सरकार की ओर से स्थापित 8002 अस्थायी चिकित्सा शिविरों (Temporary medical camps) में सुरक्षा दे रहे हैं. 11 जून तक 5,22,148 लोग राज्य में लौट आए हैं.

यह भी पढ़ें: धार्मिक स्‍थलों में बिना मास्‍क नहीं मिलेगी एंट्री, जान लें ये 22 जरूरी नियम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज