कोरोना की दूसरी लहर के बीच WHO चीफ बोले- आसान नहीं जंग, लग सकता है लंबा समय

WHO चीफ ने कहा कि कोरोना से जंग अभी आसान नहीं है. (फोटो साभार-News18 English)

WHO चीफ ने कहा कि कोरोना से जंग अभी आसान नहीं है. (फोटो साभार-News18 English)

COVID-19 Pandemic: टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने कहा कि वैक्‍सीनेशन के साथ ही मास्‍क और सोशल डिस्‍टेंसिंग ही महामारी से बचाव का एक मात्र उपाय है. विश्‍व स्‍तर पर अब तक 780 मिलियन लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 6:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है. देश के हर राज्‍य में त्राहिमाम मचा है. रोजाना रिकॉर्ड स्‍तर के संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं. भारत अब दुनिया में कोरोना वायरस से प्रभावित देशों की सूची में दूसरे नंबर पर आ गया है. इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने सोमवार को कहा कि अभी महामारी की जंग आसान नहीं है. इसपर जीत हासिल करने में अभी लंबा समय लग सकता है.

टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने कहा कि वैक्‍सीनेशन के साथ ही मास्‍क और सोशल डिस्‍टेंसिंग ही महामारी से बचाव का एक मात्र उपाय है. विश्‍व स्‍तर पर अब तक 780 मिलियन लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है. लेकिन इसके बावजूद कोविड से बचाव के लिए मास्‍क पहनना और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना जरूरी है.

Youtube Video


महामारी को लेकर मन में आशा जगी है: WHO
उन्‍होंने कहा कि हम सभी लोग जल्‍द से जल्‍द आर्थिक गतिविधियों को फिर से शुरू होते हुए देखना चाहते हैं. यात्रा का बहाल होते देखना चाहते हैं. लेकिन अभी इसमें समय लग सकता है. इस महामारी को लेकर हमारे मन में एक आशा जगी है, जिसके कई कारण हैं. इस साल के शुरुआती दो महीनों के दौरान हमने कोरोना के मामलों और मौतों में गिरावट को देखा है. इससे हमें यह पता चला है कि कोरोना के एक वेरिएंट को रोका जा सकता है.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में कोरोना केस में थोड़ी कमी, दिल्ली में 24 घंटे में 11 हजार से ज्यादा मामले

ये भी पढ़ें: दिल्ली में Corona का कोहरामः अब 14 निजी अस्पताल पूरी तरह कोविड हॉस्पिटल घोषित, जारी हुए आदेश



डॉ टेड्रोस ने कहा कि कोरोना वायरस पर काबू पाने में अभी समय लग सकता है. दुनिया भर में फिर महामारी के ग्राफ बहुत ही तेजी से बढ़ रहे हैं. अब लोग इसे लेकर भ्रम की स्थिति में हैं, जिसके कारण संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज