लाइव टीवी

मुंबई : कोविड-19 रोगी को घर पर क्वारंटाइन की दी अनुमति, रिपोर्ट सामने आने पर BMC ने की कार्रवाई

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 6:39 PM IST
मुंबई : कोविड-19 रोगी को घर पर क्वारंटाइन की दी अनुमति, रिपोर्ट सामने आने पर BMC ने की कार्रवाई
न्यूज 18 की खबर सामने आने के बाद इमारत को कंटेनमेंट ज़ोन घोषित किया गया (News18)

मुंबई में सिविक बॉडी (Civic Body) ने उस इमारत या फ्लोर को भी नहीं सील किया, जहां यह व्यक्ति रहता था. संक्रमण का पता चलने के 24 घंटे बाद भी बिल्डिंग को सैनेटाइज नहीं किया गया था. इसके अलावा, बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने उस परिसर को भी सैनेटाइज नहीं किया था.

  • Share this:
विनया देशपांडे


मुंबई. COVID-19 के एक मरीज को मुंबई (Mumbai) में होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) की अनुमति दी गई थी क्योंकि उसके लिए कोई अस्पताल में बिस्तर उपलब्ध नहीं था. यह घटना वडाला पूर्व में एंटॉप हिल से सामने आयी है, जो मुंबई के सबसे बुरी तरह से कोरोना संक्रमित इलाकों में से एक है.

मुंबई में सिविक बॉडी (Civic Body) ने उस इमारत या फ्लोर को भी नहीं सील किया, जहां यह व्यक्ति रहता था. संक्रमण का पता चलने के 24 घंटे बाद भी बिल्डिंग को सैनेटाइज नहीं किया गया था. इसके अलावा, बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने उस परिसर को भी सैनेटाइज नहीं किया था.



बाद में इमारत को घोषित किया गया कंटेनमेंट जोन, लिफ्ट की गईं सील


न्यूज18 की खबर सामने आने के बाद, प्रशासन हरकत में आया और बीएमसी के कर्मचारी बुधवार को दोपहर में मरीज को सेवन हिल्स अस्पताल ले गए. बाद में इमारत को कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) घोषित किया गया. वहीं इमारत की दो लिफ्टों को सील कर दिया गया.

अधिकारियों ने कहा है कि इस एफ/नॉर्थ वार्ड में उन्होंने स्थानीय लोगों के बीच वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए कई बुखार जांच क्लीनिक बनाए हैं.

बीएमसी टीम ने इमारत के निवासियों की स्क्रीनिंग के लिए किया बंदोबस्त
19 मई को, एक झुग्गी पुनर्विकास इमारत की 13वीं मंजिल पर रहने वाले व्यक्ति को कोरोना टेस्टिंग में पॉजिटिव पाया गया. बाद में दिन में उसे सोमैया अस्पताल ले जाया गया, लेकिन कोई बिस्तर उपलब्ध नहीं था. जिसके बाद अधिकारियों ने उसे दूसरे अस्पताल में स्थानांतरित करने के बजाय, उसे अपने परिवार के साथ वापस घर ले जाने की अनुमति दी थी.

यहां तक पड़ोसियों को सेल्फ-क्वारंटाइन (Self-Quarantine) करने के लिए भी नहीं कहा गया था, न ही किसी भी बीएमसी टीम ने निवासियों की स्क्रीनिंग करने के लिए भवन का दौरा किया था. प्रोटोकॉल के अनुसार, अगर पूरी इमारत नहीं तो कम से कम उस मंजिल को सील किये जाने की जरूरत होती है.

(नोट : यहां क्लिक करके पूरी रिपोर्ट अंग्रेजी में पढ़ें)

यह भी पढ़ें: आयुष्मान भारत योजना- 2000 कोविड-19 मरीजों का हुआ फ्री इलाज, 3000 का फ्री टेस्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 20, 2020, 6:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading