सनोफी और GSK ने तैयार की कोरोना की एक और वैक्सीन, शुरुआती टेस्ट में असरदार दिख रहा है टीका

कंपनी की तरफ से दूसरे फेज के ट्रायल के बाद कहा गया है कि वैक्सीन के इस्तेमाल से कोरोना के खिलाफ अच्छी एंटीबॉडीज बन रही है.

Covid-19 Vaccine: कंपनी के मुताबिक दूसरे फेज़ के ट्रायल के नतीजे काफी अच्छे आए हैं. लिहाजा कुछ ही हफ्तों में तीसरे फेज का ट्रायल भी शुरू कर दिया जाएगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) की मार से हर तरफ अफरा-तफरी का माहौल है. अब तक इस वायरस को मात देने के लिए किसी दवा का ईजाद नहीं किया गया है. लिहाजा कोरोना से लड़ने के लिए इन दिनों सबसे बड़ा हथियार सिर्फ और सिर्फ वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) है. इस वक्त दुनिया भर में करीब आधे दर्जन ऐसे वैक्सीन हैं जो कोरोना से लड़ने में सक्षम है. लेकिन कोरोना के खिलाफ इस जंग में एक और वैक्सीन शामिल होने वाली है. इसे तैयार कर रही है फ्रांस की सबसे बड़ी फार्मास्यूटिकल कंपनी सनोफी (Sanofi) और ब्रिटिश कंपनी GSK. कंपनी की तरफ से कहा गया है कि वैक्सीन के शुरूआती नतीजे काफी अच्छे हैं.

    कंपनी के मुताबिक दूसरे फेज़ के ट्रायल के नतीजे काफी अच्छे आए हैं. लिहाजा कुछ ही हफ्तों में तीसरे फेज का ट्रायल भी शुरू कर दिया जाएगा. बता दें कि पिछले साल कंपनी को वैक्सीन तैयार करने में खराब नतीजों के चलते निराशा हाथ लगी थी. लेकिन इस बार अब दो फेज़ के ट्रायल के बाद उम्मीदें जग गई है.



    ये भी पढ़ें:- अगस्त-दिसंबर के बीच 2 अरब वैक्सीन डोज मिल पाना बेहद मुश्किल- वायरोलॉजिस्ट

    कैसा रहा दूसरे फेज का ट्रायल?
    कंपनी की तरफ से दूसरे फेज के ट्रायल के बाद कहा गया है कि वैक्सीन के इस्तेमाल से कोरोना के खिलाफ अच्छी एंटीबॉडीज बन रही है. दूसरे फेज में 722 वोलियंटर पर ट्रायल किया गया. आने वाले दिनों अब तीसरे फेज का ट्रायल अलग-अलग देशों में किया जाएगा. बता दें कि किसी भी वैक्सीन के लिए तीसरा फेज बेहद अहम होता है. यहां हज़ारों की संख्या में लोगों पर वैक्सीन टेस्ट किए जाते हैं. इस फेज में अच्छे नतीजे आने के बाद ही वैक्सीन को हरी झंडी मिलती है.

    इस साल हो सकती है लॉन्च
    बता दें कि पिछले साल कंपनी को वैक्सीन के ट्रायल के दौरान झटका लगा था. जिन लोगों पर इसका ट्रायल किया गया था उनमें कोरोना के खिलाफ काफी कम इम्यूनिटी दिखी थी. लेकिन अब कंपनी ने सारी खामियों को दूर कर लिया है. उम्मीद की जा रही है कि फेज 3 की कामयाबी के बाद इस साल के आखिर तक इस वैक्सीन को लॉन्च कर दिया जाएगा.
    Published by:Manish Kumar
    First published: