Covid-19 : देश में एक दिन में ठीक हुए सर्वाधिक 56,383 लोग, केंद्र ने राज्यों को दिए 3 करोड़ से ज्यादा N95 मास्क

Covid-19 : देश में एक दिन में ठीक हुए सर्वाधिक 56,383 लोग, केंद्र ने राज्यों को दिए 3 करोड़ से ज्यादा N95 मास्क
देश में 12 अगस्त तक कुल 2,68,45,688 नमूनों की जांच की गई

Coronavirus in India: देश में एक दिन में कोविड-19 (Covid-19) के रिकॉर्ड 66,999 मामले सामने आए हैं जबकि इसी अवधि में देश में अब तक के सबसे ज्यादा 56,383 मरीज ठीक हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 13, 2020, 7:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में एक दिन में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के रिकॉर्ड 66,999 मामले सामने आए हैं और इसी के साथ गुरुवार को संक्रमण के मामले बढ़कर 23,96,637 हो गए हैं. वहीं, देश में बीते एक दिन में रिकॉर्ड 56,383 लोग ठीक हुए हैं जिसके बाद कोविड-19 (Covid-19) से उबरने वालों की संख्या अब 17 लाख के पास पहुंच गई है. देश में अब तक 16,95,982 लोग उपचार के बाद संक्रमण मुक्त हुए हैं. संक्रमण मुक्त होने वाले लोगों की संख्या में इजाफे से देश में स्वस्थ होने की दर 70.77 प्रतिशत हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने यह जानकारी दी.

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में संक्रमण से 942 लोगों की मौत हुई जिससे मृतक संख्या बढ़कर 47,033 हो गई है. देश में संक्रमण से मृत्युदर घट कर 1.96 प्रतिशत हो गई है. वर्तमान में 6,53,622 लोग उपचाराधीन हैं. यह कुल मामलों का 27.27 फीसदी है. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research) के अनुसार देश में 12 अगस्त तक कुल 2,68,45,688 नमूनों की जांच की गई, इसमें से अकेले बुधवार को ही 8,30,391 नमूनों की जांच की गई, जो एक दिन में जांच की सर्वाधिक संख्या है.

ये भी पढ़ें :- Private Train में मिलेंगी इस तरह की Hightech फैसिलिटी, Railway ने बनाया Draft



सरकार ने राज्यों को दिए 3 करोड़ से ज्यादा मास्क
इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि केंद्र सरकार ने 3.04 करोड़ से ज्यादा एन95 मास्क (N95 Mask), 1.28 करोड़ से ज्यादा निजी सुरक्षा उपकरण किट (PPE Kits) राज्यों, केंद्र शासित क्षेत्रों और केंद्रीय संस्थानों को 11 मार्च से अब तक मुफ्त प्रदान किए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 10.83 करोड़ से ज्यादा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxicloroquine) की गोलियां भी इनके बीच वितरित की गई हैं.

राज्यों को दिये गए मेक इन इंडिया वेंटिलेटर
मंत्रालय ने बताया कि इसके अतिरिक्त ‘मेक इन इंडिया’ (Make In India) वाले 22,533 वेंटिलेटर विभिन्न राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों और केंद्रीय संस्थानों को दिए गए हैं. केंद्र सरकर इन मशीनों को लगाने और संचालन का कार्य भी सुनिश्चित कर रही है. मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में सरकार की मुख्य भूमिका राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मजबूत करने और इसके प्रभावी प्रबंधन को सुनिश्चित करने की है. कोविड-19 सुविधाओं को बढ़ाने के साथ ही केंद्र सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को चिकित्सकीय आपूर्ति भी कर रही है.

मंत्रालय ने कहा, ‘‘भारत सरकार की ओर से आपूर्ति किए जाने वाले ज्यादातर उत्पाद शुरुआत में देश में नहीं बन रहे थे. महामारी की वजह से वैश्विक स्तर पर मांग तेज होने से विदेशी बाजारों में भी इन चीजों की उपलब्धता कम हो गई थी.’’ मंत्रालय ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय, कपड़ा मंत्रालय, फार्मास्यूटिकल्स मंत्रालय समेत अन्य के संयुक्त प्रयास से घरेलू उद्योग को बढ़ावा मिला और पीपीई, एन95 मास्क, वेंटिलेटर जैसी चिकित्सकीय वस्तुओं व उपकरणों का उत्पादन और आपूर्ति शुरू हुई. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading