अपना शहर चुनें

States

Covid-19 Vaccine: मार्च में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V को भारत मिल सकती है मंजूरी

 इस वैक्सीन के भारत में पहले और दूसरे फेज के ट्रायल पूरे हो गए हैं.
इस वैक्सीन के भारत में पहले और दूसरे फेज के ट्रायल पूरे हो गए हैं.

Sputnik V: भारत में रूस की स्पूतनिक V वैक्सीन, डॉक्टर रेड्डी लैबोरेट्रीज के साथ मिलकर ट्रायल कर रही है. डॉक्टर रेड्डी के को-चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर जीवी प्रसाद ने कहा है कि भारत में अब तक स्पूतनिक के पहले और दूसरे फेज के ट्रायल के अच्छे नतीजे आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2021, 5:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत को कोरोना की एक और वैक्सीन मार्च में मिल सकती है. रूस की स्पूतनिक V वैक्सीन (Sputnik V) के तीसरे फेज के ट्रायल इन दिनों चल रहे हैं. उम्मीद की जा रही है कि दो महीने के बाद इसे अप्रूवल मिल जाएगा. इस वैक्सीन के भारत में पहले और दूसरे फेज के ट्रायल पूरे हो गए हैं. स्पुतनिक V की भारत में कीमत 10 डॉलर (करीब 730 रुपये) रहेगी. बता दें कि भारत में अब तक दो वैक्सीन को सरकार ने हर झंडी दे दी है. ये है- भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट-ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजैनेका की कोविशील्ड.

बता दें कि भारत में रूस की स्पूतनिक V वैक्सीन, डॉक्टर रेड्डी लैबोरेट्रीज के साथ मिलकर ट्रायल कर रही है. डॉक्टर रेड्डी के को-चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर जीवी प्रसाद ने कहा है कि भारत में अब तक स्पूतनिक के पहले और दूसरे फेज के ट्रायल के अच्छे नतीजे आए हैं.

दुनिया भर में ट्रायल के अच्छे नतीजे
इससे पहले इस वैक्सीन का रूस में 10 लाख से ज्यादा लोगों पर ट्रायल किया गया था. इसके अलावा इस वैक्सीन का ट्रायल अर्जेटीना के 3 लाख लोगों पर भी किया गया. भारत में अगर वैक्सीन अपने सभी चरण पूरे करती है तो इस वैक्सीन का भारत में बड़े पैमाने पर उत्पादन होगा. इस वैक्सीन को 18 डिग्री के तापमान पर स्टोर किया जा सकता है. भारत ने इस वैक्सीन की 10 करोड़ डोज बुक की हैं.
ये भी पढ़ें:- युवराज सिंह की मुश्किलें बढ़ीं, अब चंडीगढ़ पुलिस करेगी उनके खिलाफ जांच...





इन देशों में मिल गई अनुमति
स्पूतनिक-5 ने रजिस्ट्रेशन के लिए यूरोपियन संघ में आवेदन कर दिया है. उम्मीद की जा रही है फरवरी में इसकी समीक्षा की जा सकती है. अपनी वैक्सीन को दुनियाभर में पहुंचाने के लिए मास्को लगातार प्रयास कर रहा है. खास बात है कि स्पूतनिक-5 को अर्जेंटीना, बेलारूस, सर्बिया और कई दूसरे देशों में अनुमति मिल गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज