सभी स्टेशनों पर लगेगा COVID-19 सर्विलांस कैमरा, सामने आते ही बता देगा संक्रमित है या नहीं

सभी स्टेशनों पर लगेगा COVID-19 सर्विलांस कैमरा, सामने आते ही बता देगा संक्रमित है या नहीं
कोरोना वायरस से बचाव के लिए रेलवे तकनीक की मदद ले रहा है.

रेलवे ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) आधारित 'COVID surveillance' कैमरे को सभी स्टेशनों पर लगाने का फैसला लिया है. इन कैमरों की मदद से शख्स की बॉडी का टेंपरेचर पता चल सकेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए भारतीय रेलवे (Indian Railways) लगातार यात्रियों को निर्देश दे रहा है. अब इस वायरस से लड़ाई लड़ने के लिए रेलवे तकनीक का सहारा ले रही है. ताजा कड़ी में रेलवे ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) पर आधारित 'COVID surveillance' कैमरे को सभी स्टेशनों पर लगाने का फैसला लिया है. इन कैमरों की मदद से शख्स की बॉडी के टेंपरेचर पता चल सकेगा. इस कैमरों में स्टेशन पर आने वाले यात्रियों की फोटो भी कैप्चर होगी, जिसमें यह पता चल सकेगा कि किस यात्री ने मास्क पहना है और किसने नहीं.

इन कैमरों को लगाने के लिए रेलटेल ने 800 कैमरे खरीदने का टेंडर भी जारी कर दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक सार्वजनिक जगहों पर भी इन कैमरों को लगाने से फायदा होगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक इस तरह के कैमरे मुंबई जोन ने पहले ही खरीद लिए हैं. इसके साथ ही अलग-अलग जोन के लिए कैमरे खरीदने के लिए टेंडर जारी किए जा रहे हैं.

फोटो देखकर ही बता देगा बॉडी का तापमान
इसके अलावा भारतीय रेलवे द्वारा ब्लैक बॉडी टेंपरेचर के फीचर के सहित और बिना फीचर के कैमरे खरीदे जा रहे हैं. इन कैमरों में एक ऐसा फीचर है जो स्टेशन पर आने वाले यात्रियों की फोटो देखकर ही बॉडी का सटीक तापमान बता देगा. इस बारे में रेलवे अधिकारियों का कहना है कि वर्तमान में दोनों तरह के कैमरों को खरीदा जा रहा है. ये बहुत काम के साबित होंगे. अधिकारियों ने कहा कि खास बात ये है कि कैमरे का इस्तेमाल कहां और किस पैमाने पर हो रहा है, ये सोचने वाली बात होगी. इन कैमरों की कीमत 4 लाख से भी अधिक बताई जा रही है.
सार्वजनिक जगहों पर थर्मल कैमरों की जरूरत


जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पूरे देश में 25 मार्च से 31 मई तक लॉकडाउन लागू रहा था. जून में लोगों को बाहर निकलने की राहत तो मिली, लेकिन इस दौरान भी सिर्फ वही लोग सड़कों पर नजर आ रहे हैं, जिन्हें बहुत ज्यादा जरूरत है. ऐसे में किसी में कोरोना वायरस के लक्षण है या नहीं इसकी जांच के लिए थर्मल कैमरों की जरूरत है. इन कैमरों के जरिए सार्वजनिक जगहों पर उन लोगों की पहचान की जा सकेगी, जिनके शरीर का तापमान ज्यादा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading