संबित पात्रा में दिखे कोरोना के लक्षण, अब तक इन नेताओं को हो चुका है कोविड-19

संबित पात्रा में दिखे कोरोना के लक्षण, अब तक इन नेताओं को हो चुका है कोविड-19
संबित पात्रा को अस्पताल से मिली छुट्टी. (File Photo)

कोविड-19 (Covid-19) के लक्षण दिखने के बाद बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit patra coronavirus symptoms) को गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) के लक्षण दिखने के बाद बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit patra coronavirus symptoms) को गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. PTI के मुताबिक, पात्रा को मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital Gurugram) में भर्ती किया गया है. हालांकि इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है कि संबित पात्रा कोरोना वायरस से संक्रमित है या नहीं. संबित पात्रा से पहले भी देश के कुछ बड़े नेता है जिनमें कोरोना वायरस अपनी चपेट में ले चुका है. आइए जानते हैं कौन से हैं वो नेता, जिनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है.

अशोक चव्हाण में कुछ दिनों पहले ही कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी.


अशोक चव्हाण (Ashok Chavan)



महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान उद्धव ठाकरे सरकार के मंत्री अशोक चव्हाण में कुछ दिनों पहले ही कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी. अशोक चव्हाण में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होते ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. चव्हाण का इलाज नांदेड़ में चल रहा है.



coronavirus vaccine, covid-19, lockdown in india, maharashtra, Maharashtra minister Jitendra Awhad
जितेंद्र इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं.


जितेंद्र अव्हाड़ (Jitendra Awhad)

महाराष्ट्र सरकार के एक और मंत्री जितेंद्र अव्हाड़ भी अप्रैल में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. जितेंद्र के साथ उनके 14 निजी स्टाफ में भी संक्रमण की पुष्टि हुई थी. इलाज के बाद जितेंद्र अव्हाड़ अब स्वस्थ हो चुके हैं.

संजय झा ने खुद ट्वीट कर कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की थी.


संजय झा (Sanjay Jha)

अशोक चव्हाण से पहले कांग्रेस के एक अन्य नेता संजय झा भी इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं. संजय झा ने कोरोना संक्रमण की पुष्टि खुद सोशल मीडिया पर शेयर की थी. 20 मार्च को किए गए एक ट्वीट में संजय झा ने लिखा था, 'मेरा कोविड 19 का टेस्ट पॉजिटिव आया है. मुझमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं, इसलिए मैं घर पर ही 10-12 दिन के लिए क्वारंटाइन हूं. कृपया इसके फैलने को हल्के में न लें, यह किसी को भी हो सकता है.'

एक पार्षद की मौत
कोरोना संक्रमण के कारण गुजरात के अहमदाबाद नगर निगम में कांग्रेस के पार्षद बदरुद्दीन शेख की अप्रैल महीने में मौत हो गई थी. संक्रमण के पुष्टि होने के बाद शेख को एसवीपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 3 दिन के इलाज के बाद शेख कोरोना से जिंदगी की जंग को हार गए और उनकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ेंः-
कोरोना की 'संजीवनी बूटी' बनीं ये 5 दवाइयां, दुनिया भर में ठीक हो रहे मरीज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading