इस बार नहीं मनेगा नये साल का जश्न; कई राज्यों ने सेलिब्रेशन पर लगाया प्रतिबंध

कोरोना वायरस महामारी के कारण कई राज्‍यों ने नए साल के जश्‍न पर प्रतिबंध लगा दिया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)

कोरोना वायरस महामारी के कारण कई राज्‍यों ने नए साल के जश्‍न पर प्रतिबंध लगा दिया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)

New Year Celebration: महाराष्ट्र सरकार ने क्रिसमस और नए साल में आने वाले आगंतुकों और पार्टी में जाने वाले लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी है. कोरोना की मार के चलते बाजार बुरी तरह प्रभावित हुआ था और होटल और मॉल इंडस्ट्री को नए साल से बहुत ज्यादा उम्मीद थी लेकिन सरकार के फैसलों ने सभी उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 22, 2020, 9:33 PM IST
  • Share this:

जहां एक तरफ, प्रतिदिन भारत में कोविड-19 के मरीजों की संख्या घट रही है वहीं ब्रिटेन में पाए गए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन जोकि नियंत्रण के बाहर दिखाई दे रहा है, के कारण लगातार संकट का भय बना हुआ है. एहतियातन, नए कोविड -19 के फैलाव से बचने के लिए भारत ने यूके से आने वाली सभी हवाई उड़ानों पर 31 दिसंबर तक प्रतिबन्ध लगा दिया है. इसके अतिरिक्त, साल 2020 में होने वाले सभी कार्यक्रम कोरोना की वजह से पहले से ही खटाई में पड़ गए थे और अब ऐसा लगता है कि नए साल के सभी उत्सवों पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा.

विभिन्न राज्यों ने पहले से ही नए साल के जश्न पर रोकथाम लगा दी है. यहां देखिये, नए साल के लिए क्या निर्देश जारी किये गए हैं:

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र सरकार ने क्रिसमस और नए साल में आने वाले आगंतुकों और पार्टी में जाने वाले लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी है. कोरोना की मार के चलते बाजार बुरी तरह प्रभावित हुआ था और होटल और मॉल इंडस्ट्री को नए साल से बहुत ज्यादा उम्मीद थी लेकिन सरकार के फैसलों ने सभी उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

महाराष्ट्र सरकार के द्वारा 22 दिसंबर से 5 जनवरी के बीच ज्यादा प्रतिबंधों और रात के कर्फ्यू के चलते दुकानें देर रात तक खुली नहीं रह सकेंगीं. खासतौर पर क्रिसमस और नए साल के दौरान अधिकतर जगहें, प्रमुख दुकानें और मुंबई के ज्यादातर मॉल को देर रात तक खोलने की अनुमति नहीं मिलेगी. राज्य में रात का कर्फ्यू रात को 11 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा. यूरोप और मध्य पूर्व देशों से आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से 14 दिन की संस्थागत क्वारंटाइन में रहना होगा जबकि अन्य देशों से आने वाले लोगों को घर पर ही क्वारंटाइन रहना होगा. नए कोरोना वायरस के चलते राज्य में ज्यादा सावधानियां बरती जा रहीं हैं और मुख्यमंत्री के अनुसार अगले 15 दिनों तक सतर्क रहना बहुत आवश्यक है.
तमिलनाडु: कोरोना वायरस के फैलाव की रोकथाम के लिए, तमिलनाडु सरकार ने 31 दिसंबर की रात और एक जनवरी, 2020 को समुद्र तटों, होटलों, क्लब और रिसॉर्ट्स में होने वाली नए साल की पार्टियों पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. इन तारीखों पर समुद्र तटों पर प्रवेश नहीं मिलेगा और समुद्र तट की ओर जाने वाली सड़कों, रेस्त्रां, होटल और क्लब रिसोर्ट जिनमें समुद्र तट पर स्थित रिसोर्ट और इसी प्रकार की अन्य जगहें भी शामिल हैं, जहां नए साल में आधी रात में और अगले दिन होने वाला जश्न मनाया जाता है, इसकी अनुमति नहीं मिलेगी. होटल, रेस्‍टोरेंट, क्लब और रिसोर्ट के नियमित कामकाज वर्तमान मानक कार्यपद्धति को ध्यान में रखते हुए जारी रहेंगे.

गुजरात: कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए अहमदाबाद में रात का कर्फ्यू लगा दिया गया है. 31 दिसंबर को किसी भी प्रकार की नए साल की पार्टी नहीं की जाएंगीं, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने सोमवार को बताया. डिप्टी कमिश्नर पुलिस (कण्ट्रोल रूम ) हर्षद पटेल ने बताया कि राज्य में नशे में धुत्त होकर घूमने वालों और महामारी के प्रकोप से जुड़े मानदंडों की अवहेलना करने वालों को पकड़ने के लिए पुलिस वर्दी और सादे कपड़ों में तैनात रहेगी. 'चूंकि शहर में पहले से ही रात का कर्फ्यू लगाया जा चुका है, इसलिए 31 दिसंबर को होने वाले सभी समारोहों को प्रतिबंधित कर दिया गया है. अगर नौ बजे के बाद पुलिस को इस तरह की किसी गतिविधि की जानकारी मिलती है, नियम तोड़ने वालों के खिलाफ उचित कार्यवाई और एफआईआर भी रजिस्टर की जा सकती है. हर्षद पटेल ने कहा कि नौ बजे से पहले उत्सव मनाने वालों को भी सभी दिशानिर्देशों का पालन करना होगा, जिसमें मास्क पहनना और सोशल दूरी बनाये रखना जरूरी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज