अपना शहर चुनें

States

कोरोना टीकाकरणः केंद्र की दो टूक, वैक्सीन चुनने का ऑप्शन नहीं, 28 दिन बाद लगेगा दूसरा टीका

कोवॉक्सिन को हैदराबाद स्थित भारत बॉयोटेक (Bharat Biotech) ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर बनाया है. 
(सांकेतिक तस्वीर)
कोवॉक्सिन को हैदराबाद स्थित भारत बॉयोटेक (Bharat Biotech) ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर बनाया है. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने स्पष्ट किया कि वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के दो टीकों के बीच 28 दिन का अंतर होगा और उम्मीद है कि दूसरा टीका लगने के 14 दिन बाद वैक्सीन से शरीर को सुरक्षा मिल सकेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 12, 2021, 9:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के खिलाफ 16 जनवरी से देश में टीकाकरण कार्यक्रम (Covid-19 Vaccination) शुरू हो रहा है और केंद्र सरकार ने मंगलवार को साफ कर दिया कि आपात इस्तेमाल के लिए मंजूर की गईं दो वैक्सीन में से विकल्प चुनने का ऑप्शन नहीं होगा. टीकाकरण कार्यक्रम के पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा. केंद्र सरकार ने दो वैक्सीन- कोविशील्ड (Covishield) और कोवॉक्सिन (Covaxin) को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है. कोविशील्ड को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) और एस्ट्राजेनेका (Astrazeneca) के साथ मिलकर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने विकसित किया है. दूसरी ओर कोवॉक्सिन को हैदराबाद स्थित भारत बॉयोटेक (Bharat Biotech) ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर बनाया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय, नीति आयोग और आईसीएमआर की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि वैक्सीन के दो टीकों के बीच 28 दिन का अंतर होगा और उम्मीद है कि दूसरा टीका लगने के 14 दिन बाद वैक्सीन से शरीर को सुरक्षा मिल सकेगी. मंत्रालय की ओर से कहा गया कि जिस दिन व्यक्ति को वैक्सीन लगने वाली होगी, उसके एक दिन पहले उसे मैसेज मिलेगा. अधिकारियों ने कहा कि कोविन (Co-WIN) ऐप पर 1 करोड़ से अधिक लोगों के रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं. कोविन ऐप के जरिए ही पूरे टीकाकरण कार्यक्रम को 16 जनवरी से देश भर में संचालित किया जाएगा.

अधिकारियों को उम्मीद है कि अगले 6 से 8 महीनों के भीतर हाई रिस्क वाले 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन के टीके लगा दिए जाएंगे. टीकाकरण कार्यक्रम के पहले तीन चरणों में 1 करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों, 2 करोड़ फ्रंटलाइन कर्मचारियों और 50 वर्ष से ऊपर के गंभीर रूप से बीमार 27 करोड़ नागरिकों को वैक्सीन के टीके लगाए जाएंगे. दूसरी ओर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बॉयोटेक ने देश के विभिन्न राज्यों के कई शहरों में वैक्सीन के टीके भेजने शुरू कर दिए हैं.

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्विटर पर कहा कि एयरलाइंस मंगलवार को विभिन्न शहरों में 56.5 लाख वैक्सीन के टीके पहुंचाएंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज