• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Covid-19 Vaccine: US में भी लग सकती है एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन, साल के अंत में कंपनी लेगी मंजूरी

Covid-19 Vaccine: US में भी लग सकती है एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन, साल के अंत में कंपनी लेगी मंजूरी

कंपनी ने अमेरिका में किए गए अपने ट्रायल के नतीजे घोषित किए है. इसके मुताबिक इस वैक्सीन की यहां प्रभावकारिता 74 फीसदी है. (फ़ाइल फोटो)

कंपनी ने अमेरिका में किए गए अपने ट्रायल के नतीजे घोषित किए है. इसके मुताबिक इस वैक्सीन की यहां प्रभावकारिता 74 फीसदी है. (फ़ाइल फोटो)

Covid-19 Vaccine: एस्ट्राजेनेका का कहना है कि FDA से उनकी बातचीत लगातार चल रही है. कंपनी के मुताबिक इस वक्त अमेरिका में कोरोना के मौजूदा हालात को देखते हुए वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल नहीं दी जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. अमेरिका में भी लोगों को ब्रिटिश-स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनेका (Astrazenca) की कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) मिल सकती है. कंपनी अपनी वैक्सीन की मंजूरी के लिए इसी साल अप्लाई करेगी. अमेरिका में इस वक्त मुख्यतौर पर दो वैक्सीन- फाइज़र और मॉडर्ना दी जा रही है. इस साल की शुरुआत में बल्ड क्लोटिंग की खबरें आने के बाद एस्ट्राजेनेका ने अमेरिका में लॉन्चिंग टाल दी थी. लेकिन अब कंपनी को उम्मीद है कि उन्हें इस साल यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (USFDA) से मंजूरी मिल जाएगी.

    एस्ट्राजेनेका का कहना है कि FDA से उनकी बातचीत लगातार चल रही है. कंपनी के मुताबिक इस वक्त अमेरिका में कोरोना के मौजूदा हालात को देखते हुए वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल नहीं दी जा रही है. लिहाजा कंपनी बायोलॉजिक्स लाइसेंस (BLA) के लिए अप्लाई करेगी. इस वक्त अमेरिका में तीन वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिली है. ये हैं- फाइज़र, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन.

    ये भी पढ़ें:- गुजरात पर मेहरबान केंद्र! 2015 से एजेंसियों को फंड ट्रांसफर 350% बढ़ा- रिपोर्ट

    कितनी असरदार है  वैक्सीन?
    इस बीच कंपनी ने अमेरिका में किए गए अपने ट्रायल के नतीजे घोषित किए है. इसके मुताबिक इस वैक्सीन की यहां प्रभावकारिता 74 फीसदी है. जबकि ये आंकड़ा 65 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों में बढ़कर 83.5% हो गया. मार्च में कंपनी ने अंतरिम रिपोर्ट में बताया था कि वैक्सीन की इफिकैसी 79% है.

    ट्रायल के नतीजे
    ट्रायल के दौरान अमेरिका, चिली और पेरू में 26,000 से अधिक वॉलेंटियर ने हिस्सा लिया. 17,600 लोगों में कोई गंभीर साइडइफेक्ट नहीं दिखे. जबकि प्लेसिबो प्राप्त करने वाले 8,500 वॉलेंटियर में से 8 साइडइफेक्ट के मामले थे. प्लेसिबो समूह में भी दो मौतें हुईं, लेकिन टीका पाने वालों में से कोई भी नहीं था. जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के एक वैक्सीन शोधकर्ता और अध्ययन के जांचकर्ताओं में से एक, डॉ अन्ना डर्बिन ने नतीजे के बारे में कहा, ‘मुझे सुखद आश्चर्य हुआ. ये गंभीर बीमारी और अस्पताल में भर्ती होने के खिलाफ भी अत्यधिक सुरक्षात्मक था.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज