Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    हारेगा कोरोना: दुनिया में दस वैक्सीन कैंडिडेट आखिरी चरण में, भारत में 3

    दवा कंपनियों ने खुद दी जानकारी. (सांकेतिक तस्वीर)
    दवा कंपनियों ने खुद दी जानकारी. (सांकेतिक तस्वीर)

    दवा निर्माता कंपनियों Pfizer और BioNTech ने बताया है कि उनकी कोराना वैक्सीन कैंडिडेट ने तीसरे चरण के ट्रायल में प्रभावकारी नतीजे दिखाए हैं. इस खबर के साथ वैक्सीन को लेकर लोगों की आशाएं और ज्यादा बढ़ गई हैं. दुनिया में इस वक्त दस वैक्सीन कैंडिडेट अपने आखिरी चरण में चल रहे हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 9, 2020, 7:28 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. बीते आठ महीने से कोरोना महामारी से बुरी तरह जूझ रही दुनिया के लिए सोमवार शाम को खुशखबरी आई. दवा निर्माता कंपनियों Pfizer और BioNTech ने बताया है कि उनकी कोराना वैक्सीन कैंडिडेट ने तीसरे चरण के ट्रायल में प्रभावकारी नतीजे दिखाए हैं. अब कहा जा रहा है कि अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो इस साल दिसंबर महीने तक कोरोना वायरस की वैक्सीन आ सकती है. कोरोना वैक्सीन को लेकर दुनियाभर में रिसर्च जारी है. भारत में तीन वैक्सीन कैंडिडेट का ट्रायल चल रहा है.

    क्या बोले शोधकर्ता
    वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के बाद विश्लेषण में शोधकर्ताओं ने पाया कि 94 प्रतिभागियों पर सरकारात्मक असर रहा है. स्टडी के मुताबिक वैक्सीन का डोज दिए जाने के 28 दिनों बाद भी बीमारी के प्रतिरोधक क्षमता रही. Pfizer के वरिष्ठ अधिकारी डॉ. बिल ग्रूबर के मुताबिक-अब हम उस जगह के आस-पास खड़े हैं जहां से लोगों को आशा दिखा सकते हैं. एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा-हम सभी उत्साहित हैं.

    भारत में तीन वैक्सीन का ट्रायल
    भारत के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बीते महीने राज्यसभा में बताया था कि कोरोना वैक्सीन को लेकर हमारे देश के वैज्ञानिक लगातार प्रयास कर रहे हैं और देश में तीन कंपनी कोरोना वैक्सीन को बनाने की कगार पर हैं. उन्होंने बताया कि जिस तरह से प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में विशेषज्ञों की टीम कोरोना वैक्सीन पर काम कर रही है उससे हम कह सकते हैं कि अगले साल की शुरुआत में कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी.



    मॉडर्ना के प्रोजेक्ट पर भी दुनियाभर की निगाहें
    इसके अलावा अमेरिका की दवा कंपनी मॉडर्ना का भी तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है. माना जा रहा है कि इस महीने के आखिरी तक इस वैक्सीन कैंडिडेट के भी ट्रायल के नतीजे सामने आ सकते हैं. मॉडर्ना की वैक्सीन को लेकर अमेरिका में काफी आशाएं है. साथ ही ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन के नतीजे भी जल्द सामने आ सकते हैं. भारत का सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया इस वैक्सीन प्रोजेक्ट में पार्टनर है. सीरम इंस्टिट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला भी कह चुके हैं कि अगले साल की शुरुआत में वैक्सीन आ सकती है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज