• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Covid-19 Vaccine: कहां से आएगा फ्री डोज़ का पैसा? कंडोम बनाने वाली कंपनी का वैक्सीन में क्या है रोल

Covid-19 Vaccine: कहां से आएगा फ्री डोज़ का पैसा? कंडोम बनाने वाली कंपनी का वैक्सीन में क्या है रोल

सरकार ने देशभर में कोरोना से जान गवाने वाले 39 पत्रकारों को आर्थिक सहायता प्रदान की है. (फाइल फोटो)

सरकार ने देशभर में कोरोना से जान गवाने वाले 39 पत्रकारों को आर्थिक सहायता प्रदान की है. (फाइल फोटो)

Covid-19 Vaccine: जिन दो कंपनियों से सरकार की डील पक्की हुई है वो हैं- भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट-ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजैनेका की कोविशील्ड.

  • Share this:
    (स्नेहा मोरदानी)


    नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने दो कंपनियों के साथ कोरोना की वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) को लेकर डील पक्की कर ली है. वैक्सीन की डोज़ की संख्या के साथ-साथ इनकी कीमत भी तय हो गई है. जिन दो कंपनियों से सरकार की डील पक्की हुई है वो हैं- भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट-ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजैनेका की कोविशील्ड. भारत बायोटेक के साथ सरकार ने 11 जनवरी को 55 लाख डोज़ के लिए डील पक्की की है. बता दें कि पिछले दिनों सरकार ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी थी. 16 जनवरी से देश भर में वैक्सीनेशन काम शुरू हो जाएगा.

    न्यूज़ 18 को जानकारी के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया सरकार को 4.5 करोड़ वैक्सीन देगी. इनमें से 1.10 करोड़ डोज़ की सप्लाई पहले फेज में की जाएगी. जबकि भारत बायोटेक की तरफ से अगले कुछ महीनों में 55 लाख वैक्सीन की डोज़ दी जाएगी. पहली खेप में कुल 38.5 लाख जबकि दूसरे फेज में करीब 16.5 लाख वैक्सीन दिए जाएंगे. बाद में भारत बायोटेक की तरफ से 45 लाख डोज़ और दिए जाएंगे.

    कंपनी से फ्री वैक्सीन की मांग
    सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक से सरकार ने कुछ फ्री वैक्सीन की मांग की है. भारत बायोटेक के साथ फ्री डोज के लिए बात बन गई है. जबकि सीरम इंस्टीट्यूट के साथ अभी बातचीत चल रही है.  कोविशील्ड के एक डोज की कीमत 220 रुपये है. जबकि कोवैक्सीन की कीमत टैक्स के साथ 309 रुपये 50 पैसे हैं. कहा जा रहा है कि कोवैक्सीन की कीमत इसलिए ज्यादा है क्योंकि इसकी सिर्फ एक डोज़ लगनी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि राज्यों को पहले फेज के लिए पैसे नहीं देने होंगे. ये खर्चा केंद्र सरकार उठाएगी और ये पैसा पीएम केअर्स फंड से आएगा.



    ये भी पढ़ें:- चीन ने रची UN में भारत के खिलाफ साजिश, अहम कमेटी की अध्‍यक्षता से रोका

    HLL करेगी खरीददारी
    कंडोम बनाने वाली एक सरकारी कंपनी हिंदुस्तान लैटेक्स लिमिटेड (HLL) को सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक से वैक्सीन खरीदने की जिम्मेदारी दी गई है. 1970 के दशक में इस कंपनी ने परिवार नियोजन में बेहद अहम भूमिका निभाई थी. उस दौरान ये कंपनी निरोध के नाम से कंडोम बनाती थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज