अपना शहर चुनें

States

COVID-19 Vaccine: सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन को मिली मंजूरी, अदार पूनावाला बोले- वैक्सीन स्टोर करने का जोखिम काम आ गया

SII के प्रमुख अदार पूनावाला ने खुशी जताई है.
SII के प्रमुख अदार पूनावाला ने खुशी जताई है.

COVID-19 Vaccine: सरकार अगले 6 से 8 महीनों में 30 करोड़ लोगों को टीका लगाने का प्लान तैयार कर रही है. इसके लिए ड्राई रन का आयोजन भी किया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2021, 1:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ड्रग्‍स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने कोरोना के दो वैक्सीन को इंमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है. अब किसी भी वक्त वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाने का काम देश भर में शुरू हो जाएगा. सरकार ने जिन दो वैक्सीन को हरी झंडी दी है वो है- ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रेजेनेका की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवावैक्सीन. कोविशील्ड वैक्सीन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रेजेनेका की है, जिसे भारत में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ ​इंडिया (SII) ने तैयार किया है. जबकि कोवाक्सीन को अपने देश में तैयार किया गया है. सरकार से वैक्सीन को हरी झंडी मिलने के बाद SII के प्रमुख अदार पूनावाला ने खुशी जताई है.

अदार पूनावाला ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'सभी को नए साल की मुबारकबाद. वैक्सीन को भंडार करने का जोखिम काम आ गया है. भारत की पहली COVID-19 वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है. ये पूरी तरह से सुरक्षित, प्रभावी और लगने लिए तैयार है'. उन्होंने इस कदम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, हेल्थ मिनिस्ट्री समेत तमाम लोगों का आभार भी जताया.'


पहले फेज में 30 करोड़ लोगों को लगेंगे टीके
सरकार अगले 6 से 8 महीनों में 30 करोड़ लोगों को टीका लगाने का प्लान तैयार कर रही है. इसके लिए ड्राई रन का आयोजन भी किया जा रहा है. कोरोना की वैक्सीन सबसे पहले देश के 1 करोड़ हेल्थ वर्कर्स को दी जाएगी. ड्रग्‍स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने भी कहा है कि ये दोनों वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है.



ये भी पढ़ें:- DCGI ने दी सीरम और भारत बायोटेक की वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी

तैयार है वैक्सीन की करोड़ों डोज़
सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ ​इंडिया ने पहले ही वैक्सीन की 7.5 करोड़ डोज़ तैयार कर ली है, जबकि उम्मीद की जा रही है कि जनवरी के पहले हफ्ते में 10 करोड़ डोज़ तैयार कर लिए जाएंगे. कहा जा रहा है कि दुनिया के किसी भी देश में वैक्सीन का इतना बड़ा स्टॉक नहीं होगा जितना भारत के पास है. मार्च तक हर महीने 1 करोड़ डोज़ तैयार किए जाएंगे. वैक्सीन बनाने के लिए तीसरी फैक्ट्री तैयार हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज