अपना शहर चुनें

States

दक्षिण भारत में तेजी से फैल रहा कोरोना का N440K वैरिएंट, CSIR के अध्ययन में खुलासा

देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या एक बार फिर बढ़ने लगी है. फाइल फोटो
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या एक बार फिर बढ़ने लगी है. फाइल फोटो

Coronavirus N440K variants: CCMB के डायरेक्टर राकेश मिश्रा ने कहा कि हमारे पास इस बात के सबूत हैं कि कोरोना वायरस का N440K वैरिएंट देश के दक्षिणी राज्यों में तेजी से फैल रहा है. इस फैलाव को बेहतर तरीके से समझने के लिए निकट सर्विलांस की आवश्यकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 12:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हैदराबाद स्थित वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) के सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मोलिक्युलर बॉयोलॉजी (CCMB) के वैज्ञानिकों ने अपने एक अध्ययन में कहा है कि कोरोना वायरस का नया वैरिएंट देश के कुछ राज्यों में तेजी से फैल रहा है और इस पर विशेष निगाह रखे जाने की जरूरत है. सीसीएमबी के वैज्ञानिकों ने कहा है कि दुनिया भर में मिले कोरोना वायरस के वैरिएंट्स का भारत में कम प्रभाव देखने को मिला है, लेकिन इसके पीछे एक वजह ये भी हो सकती है कि पर्याप्त संख्या में वायरस की सीक्वेंसिंग नहीं हुई है. देश में कोरोना वायरस के प्रसार और उसके जीनोम के अध्ययन एवं विश्लेषण के लिए CCMB के वैज्ञानिक अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे हैं.

संस्थान के डायरेक्टर राकेश मिश्रा ने कहा कि हमारे पास इस बात के सबूत हैं कि कोरोना वायरस का N440K वैरिएंट देश के दक्षिणी राज्यों में तेजी से फैल रहा है. इस फैलाव को बेहतर तरीके से समझने के लिए निकट सर्विलांस की आवश्यकता है. उन्होंने कहा, "सटीक और सही समय पर नए वैरिएंट्स की पहचान से हमें काफी मदद मिल सकती है, इससे किसी भी स्थिति से निपटने की तैयारी करने में मदद मिलेगी." अध्ययन में कहा गया है कि कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन जरूरी है. लेकिन, सोशल वैक्सीन, जैसे मास्क, हैंड हाइजीन और शारीरिक दूरी का पालन बहुत जरूरी है, जोकि महामारी के खिलाफ सबसे प्रभावी हथियार है. इस अध्ययन में वैज्ञानिकों ने 5 हजार से ज्यादा कोरोना वायरस वैरिएंट का विश्लेषण किया है और अपने निष्कर्ष प्रस्तुत किए हैं.

1 करोड़ 8 लाख से ज्यादा टीकाकरण
दूसरी ओर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि देश में अब तक 36 लाख 11 हजार 670 फ्रंटलाइन कर्मचारियोंका कोरोना वायरस टीकाकरण हुआ है. मंत्रालय के मुताबिक 20 फरवरी को शाम 6 बजे तक 1 करोड़ 8 लाख 38 हजार 323 लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगाया गया है. इनमें स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या 72 लाख 26 हजार 653 है. वैक्सीन की पहली खुराक की बात करें तो अभी तक 63 लाख 52 हजार 713 स्वास्थ्य कर्मियों को पहला डोज दिया गया है, जबकि 8 लाख 73 हजार 940 स्वास्थ्य कर्मी वैक्सीन की दूसरी खुराक प्राप्त कर चुके हैं.
पांच राज्यों ने बढ़ाई टेंशन


दूसरी ओर मंत्रालय ने कहा कि केरल, महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में कोविड-19 के नए मामलों में बढ़ोतरी हुई है. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि पिछले सात दिनों में छत्तीसगढ़ में वायरस संक्रमण के रोजाना के मामलों में वृद्धि हुई है. पिछले 24 घंटे में राज्य से 259 नए मामले आए हैं.



केरल में रोजाना संक्रमण के मामलों में वृद्धि होती जा रही है और पिछले एक सप्ताह में महाराष्ट्र में भी तेज बढ़ोतरी हुई है. इससे शनिवार को देश में संक्रमण के नए मामलों में इजाफा हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज