Assembly Banner 2021

ब्राजील में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, भारत को पीछे छोड़ बना दुनिया दूसरा संक्रमित देश

ब्राजील कोरोना वायरस से दुनिया में सर्वाधिक प्रभावित देशों में शामिल है. (सांकेतिक तस्वीर)

ब्राजील कोरोना वायरस से दुनिया में सर्वाधिक प्रभावित देशों में शामिल है. (सांकेतिक तस्वीर)

Brazil Coronavirus Case: आंकड़ों के अनुसार ब्राजील में वर्तमान में कोरोना के 11,363,380 एक्टिव मामले हैं, जबकि अब तक 2,75,105 लोगों की मौत संक्रमण के कारण हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 14, 2021, 5:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्राजील में एक बार फिर कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से इजाफा (Brazil Coronavirus) हो रहा है. इन दिनों ब्राजील में रोजाना 70,000 से अधिक नए मरीज मिले रहे हैं और लगभग 2,000 मौतें हो रही हैं. शनिवार को ब्राजील, भारत को पछाड़कर संक्रमितों के मामले में दुनिया का दूसरा सर्वाधिक प्रभावित देश बन गया है. मौतों के मामले में यह पहले से ही दूसरे स्थान पर था. वहीं, कोरोना संक्रमितों की मरीजों के आंकड़ों में अमेरिका अब भी पहले स्थान पर है.

ब्राजील की स्थिति पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी चिंता जाहिर की है. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ब्राजील में कोविड-19 महामारी की स्थिति को काबू करने के लिए गंभीर कदम उठाने की आवश्यकता है. आंकड़ों के अनुसार ब्राजील में वर्तमान में कोरोना के 11,363,380 एक्टिव मामले हैं, जबकि अब तक संक्रमण के कारण 2,75,105 लोगों की मौत हो चुकी है.

क्यों बढ़ रहे हैं ब्राजील में कोरोना के मामले?
रिपोर्ट्स के मानें तो विशेषज्ञ संक्रमितों और मौतों की बढ़ती संख्या के पीछे कोरोना के नए वेरिएंट (P.1, जिसे ब्राजीली वेरिएंट भी कहा जाता है) को वजह मान रहे हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना का नया वेरिएंट तेजी से फैलता है और उन लोगों को भी दोबारा अपनी चपेट में ले लेता है, जो पहले भी संक्रमित हो चुके हैं.
वेक्सीनेशन से भी सुधरेंगे हालात!


नेशनल एसोसिएशन ऑफ हेल्थ सेक्रेटरीज की तरफ से पिछले दिनों जारी किए गए बयान में कहा गया है कि ब्राजील में जिस तरह से महामारी बढ़ रही है, वैसे-वैसे देश की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा रही है, जल्द ही देश के हर कोने का यही हाल होगा. वैक्सीनेशन का जिक्र करते हुए बयान में आगे कहा गया है कि जिस गति से वैक्सीनेशन किया जा रहा है, उससे लगता है कि हालात जल्द सुधरने वाले नहीं हैं.



ये भी पढ़ेंः- मोबाइल, नोट और एटीएम कार्ड से 1 मिनट में खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस, दिल्ली यूनिवर्सिटी ने बनाई खास मशीन

ब्राजील की स्थिति के लिए कई जानकार राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. उन पर कोरोना वायरस महामारी को गंभीरता से न लेने के आरोप लगते रहे हैं. बोल्सोनारो ने लॉकडाउन का विरोध करने के साथ-साथ कई ऐसी पाबंदियां लागू की, जिसके कारण राज्यों को लॉकडाउन लागू करना मुश्किल हो गया था. इतना ही नहीं पिछले दिनों फाइजर और बायोएनटेक द्वारा विकसित की गई वैक्सीन पर भी राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि यह वैक्सीन लोगों को मगरमच्छ में बदल सकती है.

पहले नंबर पर अब भी अमेरिका
कोविड-19 से प्रभावित होने के मामले में अमेरिका पहले नंबर पर है, जहां अब तक 2.93 करोड़ लोग इसकी चपेट में आए हैं. वहीं तीसरे नंबर पर भारत में इससे 1 करोड़ 13 लाख 63 हजार 389 प्रभावित हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज