Home /News /nation /

क्‍या बूस्टर डोज के तौर पर इस्‍तेमाल की जाएंगी दो नई वैक्सीन? जल्द फैसला करेगी सरकार

क्‍या बूस्टर डोज के तौर पर इस्‍तेमाल की जाएंगी दो नई वैक्सीन? जल्द फैसला करेगी सरकार

देश में फिलहाल वैक्सीनेशन के लिए मुख्य तौर पर कोविशील्ड और कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

देश में फिलहाल वैक्सीनेशन के लिए मुख्य तौर पर कोविशील्ड और कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

Covid Booster Dose in India: केंद्र की ओर से कोर्बेवैक्स और कोवोवैक्स (Corbevax and Covovax) को मंजूरी दी गई है. अब जल्द ही आने वाले दिनों में सरकार इस पर फैसला लेगी कि इन दोनों ही वैक्सीन को बूस्टर डोज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा या नहीं. ये दोनों ही वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन से अलग हैं. सूत्रों की ओर से जानकारी मिली है कि इसमें मिक्स एंड मैच भी किया जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. देश में जल्द ही कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए बूस्टर डोज (Covid-19 Booster Dose) दी जाएगी. केंद्र सरकार जल्द ही इस पर फैसला लेगी कि दो बूस्टर डोज कौन से होंगे. केंद्र की ओर से कोर्बेवैक्स और कोवोवैक्स (Corbevax and Covovax) को मंजूरी दी गई है. एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक अब जल्द ही आने वाले दिनों में सरकार इस पर फैसला लेगी कि इन दोनों ही वैक्सीन को बूस्टर डोज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा या नहीं. ये दोनों ही वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन से अलग हैं. सूत्रों की ओर से जानकारी मिली है कि इसमें मिक्स एंड मैच भी किया जा सकता है.

    बता दें केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ (एसआईआई) के कोविड-19 रोधी टीके ‘कोवोवैक्स’ और ‘बायोलॉजिकल ई’ कम्पनी के टीके ‘कोर्बेवैक्स’ को कुछ शर्तों के साथ आपात स्थिति में उपयोग की अनुमति दे दी है. साथ ही, कोविड-19 रोधी दवा ‘मोलनुपिराविर’ (गोली) के आपात स्थिति में नियंत्रित उपयोग को भी अनुमति मिल गई है. इस मंजूरी के साथ, देश में आपात स्थिति में उपयोग होने वाले कोविड-19 रोधी टीकों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है. देश में फिलहाल वैक्सीनेशन के लिए मुख्य तौर पर कोविशील्ड और कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है. आइये देखते हैं कौन से हैं ये 8 टीके-

    ये भी पढ़ें- दिल्ली मेट्रो के लिए जारी हुई नई गाइडलाइंस, जानें सारे नियम

    1. कोविशील्ड: ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और ब्रिटिश-स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनेका द्वारा सह-विकसित यह टीका भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा निर्मित है. यह टीका दो खुराक वाला है.

    2.कोवैक्सीन: यह टीका हैदराबाद की भारत बायोटेक द्वारा भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान के सहयोग से विकसित किया गया है. दो-खुराक वाले यह टीका एक निष्क्रिय वायरस का उपयोग करता है जो रासायनिक रूप से कोरोना वायरस के नमूनों का इलाज करके उन्हें फिर से बनने में असमर्थ बनाता है.

    3. स्पुतनिक वी: रूस के ‘गामालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट’ द्वारा विकसित, दो-खुराक वाला स्पुतनिक वी एक ‘वेक्टर’ टीका है जिसे एड 5 और एड 26 नामक दो एडेनोवायरस के संयोजन का उपयोग करके उत्पादित किया जाता है. एडेनोवायरस सामान्य वायरस हैं जो आमतौर पर हल्की सर्दी या फ्लू जैसी बीमारी का कारण बनते हैं.

    4. जेडवाईसीओवी-डी (जायकोव डी): अहमदाबाद की कंपनी जायडस कैडिला द्वारा निर्मित डीएनए टीका तीन खुराक वाला है. इस टीके को सीरिंज का उपयोग करने के बजाय एक सुई-मुक्त एप्लीकेटर का इस्तेमाल करके लगाया जाता है.

    5. मॉडर्ना: अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना द्वारा विकसित, दो-खुराक वाला टीका वायरल प्रोटीन का उत्पादन करने के लिए मैसेंजर आरएनए (एमआरएनए) के आनुवंशिक कोड का उपयोग करता है. आरएनए कई वायरस में आनुवंशिक सामग्री के रूप में कार्य करता है और एमआरएनए का उपयोग कोशिका में प्रोटीन बनाने में किया जाता है.

    6. जॉनसन एंड जॉनसन: अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन द्वारा एक-खुराक वाला एडेनोवायरस वेक्टर टीका विकसित किया गया है. इसमें एक संशोधित वायरस का एक टुकड़ा होता है जो कि वह वायरस नहीं है जो कोविड-19 का कारण बनता है. इस संशोधित वायरस को ‘वेक्टर’ वायरस कहा जाता है. वेक्टर वायरस खुद को पुन: उत्पन्न नहीं कर सकता है, इसलिए यह हानिरहित है. यह वेक्टर वायरस शरीर में कोशिकाओं को एक प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया बनाने में मदद करता है.

    7. कोर्बेवैक्स: हैदराबाद की फर्म बायोलॉजिकल-ई द्वारा निर्मित, टीके में सार्स-सीओवी-2 स्पाइक प्रोटीन के ‘रिसेप्टर बाइंडिंग डोमेन’ (आरबीडी) का एक संस्करण होता है. इसे दो खुराक में लगाया जाएगा. इसे हेपेटाइटिस बी के टीके विकसित करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक का उपयोग करके तैयार किया गया है.

    8. कोवोवैक्स: यह टीका अमेरिकी जैव प्रौद्योगिकी कंपनी नोवावैक्स द्वारा विकसित और एसआईआई के लाइसेंस के तहत निर्मित है.

    Tags: Coroanvirus Vaccination, Covaxin, Covishield

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर