RSS मुख्यालय में हुई कोविड जांच, 9 स्वयंसेवकों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि

कोरोना संक्रमित कार्यकर्ताओं में से अधिकांश वरिष्ठ नागरिक हैं (सांकेतिक फोटो)
कोरोना संक्रमित कार्यकर्ताओं में से अधिकांश वरिष्ठ नागरिक हैं (सांकेतिक फोटो)

एक आरएसएस कार्यकर्ता ने कहा कि सरसंघचालक मोहन भागवत (Sarsanghchalak Mohan Bhagwat) और सरकार्यवाह भैय्या जी जोशी (Sarkaryavah Bhaiya Ji Joshi) मुख्यालय में नहीं थे जब कार्यकर्ताओं की जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई. संघ मुख्यालय (RSS Headquarter) में लगभग 20 वरिष्ठ स्वयंसेवक रहते हैं.

  • भाषा
  • Last Updated: September 19, 2020, 11:40 PM IST
  • Share this:
नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के यहां स्थित मुख्यालय (Headquarter) में रह रहे नौ वरिष्ठ कार्यकर्ताओं (Senior Workers) के कोविड-19 जांच (COVID-19 Testing) में संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. आरएसएस के एक कार्यकर्ता ने शनिवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, “नौ स्वयंसेवकों (Volunteers) की जांच में दो तीन दिन पहले संक्रमण (infection) की पुष्टि हुई है. इनमें से अधिकांश वरिष्ठ नागरिक (Senior Citizen) हैं. सभी को पृथक-वास (isolation) में भेज दिया गया है और मुख्यालय को पूरी तरह सेनिटाइज (Sanitize) कर दिया गया है.”

उन्होंने कहा कि सरसंघचालक मोहन भागवत (Sarsanghchalak Mohan Bhagwat) और सरकार्यवाह भैय्या जी जोशी (Sarkaryavah Bhaiya Ji Joshi) मुख्यालय में नहीं थे जब कार्यकर्ताओं की जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई. संघ मुख्यालय (RSS Headquarter) में लगभग 20 वरिष्ठ स्वयंसेवक रहते हैं.

कोरोना संकट से निपटने को संघ ने लिये थे कई फैसले
पिछले महीने कोरोना संकट के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए थे. संघ प्रमुख मोहन भागवत की मौजूदगी में यहां रविवार को हुई बैठक में संघ ने तय किया था कि वह कोरोना काल में बिगड़ी शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए ग्रामीण स्तर तक पहल करेगा. संघ प्रमुख मोहन भागवत ने मध्य और मालवा प्रांत (Malwa Province) के प्रमुख स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना के दौरान स्कूलों के बंद होने से बच्चों की शिक्षा पर बुरा असर पड़ा है. इसे संभालने के लिए संघ के स्वयंसेवकों को आगे आना चाहिए. बैठक के दौरान तय किया गया था कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मोहल्ला और ग्रामीण स्तर तक शिक्षा केंद्र संचालित करेगा.
यह भी पढ़ें: पाक से होने वाली घुसपैठ को रोकने के लिए LoC पर 3000 अतिरिक्त सैनिक तैनात



इन शिक्षा केंद्रों पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हुए प्रोफेसर और रिटायर्ड शिक्षक अपनी सेवाएं देंगे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने बैठक में वर्तमान चुनौतियों एवं आने वाले समय को ध्यान में रखकर कार्य करने के लिए मध्य भारत एवं मालवा प्रान्त के प्रमुख स्वयंसेवकों को संबोधित किया गया था. उन्होंने कोरोना संक्रमण एवं लॉकडाउन के दौरान स्वयंसेवकों द्वारा समाज एवं अन्य संस्थाओं को साथ लेकर चलाए गए सेवाकार्यों और संघ की अन्य गतिविधियों की जानकारी ली. कोरोना संक्रमण के कारण शिक्षा प्रभावित न हो, इसके लिए उन्होंने मोहल्ला एवं ग्राम शिक्षा केंद्र संचालित करने का आह्वान किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज