बंगाल में पंडालों की चमक कम नहीं कर सका कोरोना, खुद दुर्गा मां कर रही हैं हेल्थ वर्कर्स का सम्मान

बंगाल के मुर्शिदाबाद में दुर्गा मां पहना रही हैं स्वास्थ्य कर्मी को ताज.
बंगाल के मुर्शिदाबाद में दुर्गा मां पहना रही हैं स्वास्थ्य कर्मी को ताज.

पश्चिम बंगाल में दुर्गा उत्सव बड़े स्तर पर मनाया जाता है. पूरे राज्य में कोविड थीम की तर्ज पर कई दुर्गा पंडाल तैयार किए गए हैं. कुछ पंडालों में दुर्गा मां को स्वास्थ्य कर्मी की तरह दिखाया है, जो कोरोनावायरस राक्षस का खात्मा कर रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 5:51 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. अभी तक हमने ऐसी कई खबरें देखी और सुनी कि कोरोना से जंग में लगे फ्रंटलाइन वर्कर्स (Frontline Workers) का लोग सम्मान कर रहे हैं. शायद यह पहली बार होगा जब हम देख रहे हैं कि खुद देवी दुर्गा भी डॉक्टरों का सम्मान कर रही हैं. यह नजारा है पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मुर्शिदाबाद में लगे दुर्गा पंडाल का. भले ही भारत में कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) अपने पैर पसार चुकी हो, लेकिन बंगाल में इस खतरे का असर दुर्गा पूजा पंडालों (Durga Pandal) की भव्यता पर नहीं पड़ता दिख रहा है.

बंगाल में बड़े पैमाने पर मनाया जाता है दुर्गा उत्सव
बंगाली हिंदुओं की बड़ी आबादी के चलते पूरे बंगाल में नौ दिन चलने वाला दुर्गा उत्सव बड़े धूमधाम से मनाया जाता है. ऐसा माना जाता है कि पूरे राज्य में सबसे ज्यादा दुर्गा पंडाल तैयार किए जाते हैं. मुर्शिदाबाद (Murhsidabad) में लगे दुर्गा पंडाल में दुर्गा जी अपने त्रिशूल की जगह हाथों में ताज पकड़े हुए हैं और हेल्थ वर्कर को पहना रही हैं.

पंडाल के जरिए दे रहे हैं स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मान
पंडाल पूजा कमेटी के सदस्य शोमोदीप शोनाई ने समाचार एजेंसी एएनाई को बताया कि 'इस साल हमारी थीम कोविड 2020 थी. पूरे देश में हेल्थ केयर वर्कर्स हमारे लिए काम कर रहे हैं और हमारे पंडाल का असल मतलब उन्हें सम्मान देना है.' उन्होंने बताया कि थीम का मकसद लोगों को स्वास्थ्य कर्मियों के काम को लेकर जागरूक करना था.



हालांकि, कोविड 19 थीम (Covid 19 theme) को लेकर तैयार हुआ यह अकेला पंडाल नहीं है. बंगाल में इस तर्ज पर कई दुर्गा प्रतिमाएं तैयार की गई हैं. बीते हफ्ते एक कोलकाता के एक पंडाल की तस्वीर वायरल हुई थी, जिसमें महिषासुर को कोरोना वायरस की तरह दिखाया गया था, जिसका दुर्गा मां वध कर रही थीं. इस पंडाल में देवी दुर्गा को स्वास्थ्य कर्मी की तरह दिखाया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज