होम /न्यूज /राष्ट्र /

राहत की खबर, बच्चों के लिए सितंबर में आ सकती है स्वदेशी कोरोना वैक्सीन

राहत की खबर, बच्चों के लिए सितंबर में आ सकती है स्वदेशी कोरोना वैक्सीन

भारत में कई कंपनियां बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर काम कर रही हैं.

भारत में कई कंपनियां बच्चों की कोरोना वैक्सीन पर काम कर रही हैं.

Children Corona Vaccination: आईसीएमआर-एनआईवी की निदेशक प्रिया अब्राहम ने 2 से 18 आयु वर्ग के बच्‍चों के लिए कोवैक्‍सीन के फेज-2 और फेज-3 के ट्रायल के बीच कहा कि भारत में सितंबर तक बच्‍चों के लिए एक स्‍वदेशी कोरोना वैक्‍सीन आ सकती है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर से पहले बच्‍चों के लिए अच्‍छी खबर आई है. भारत में जल्‍द ही बच्‍चों का भी वैक्‍सीनेशन शुरू हो सकता है. आईसीएमआर-एनआईवी की निदेशक प्रिया अब्राहम ने 2 से 18 आयु वर्ग के बच्‍चों के लिए कोवैक्‍सीन के फेज-2 और फेज-3 के ट्रायल के बीच कहा कि भारत में सितंबर तक बच्‍चों के लिए एक स्‍वदेशी कोरोना वैक्‍सीन आ सकती है. प्रिया अब्राहम ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के एक ओटीटी चैनल इंडिया साइंस को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि उम्मीद है कि ट्रायल के परिणाम बहुत जल्द उपलब्ध होंगे. जिसको नियामकों के समक्ष पेश किया जाएगा.

    प्रिया ने कहा कि इसलिए सितंबर तक या उसके ठीक बाद, हमारे पास बच्चों के लिए कोविड-19 के लिए वैक्सीन उपलब्ध हो सकती है. इससे पहले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा था कि covovax अक्टूबर के पहले हफ्ते तक भारत में लांच हो जा सकता है. उन्होंने कहा कि यह दो डोज वाला वैक्सीन होगा और कीमत लॉन्च के समय तय की जाएगी.

    बता दें कि ICMR और हैदराबाद स्थित वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने देश की पहली स्वदेशी कोविड-19 वैक्सीन कोवैक्सीन को तैयार किया था. भारत में जिन तीन टीकों के मंजूरी मिली है उसमें कोवैक्सीन टीका भी शामिल है. इसके अलावा दो अन्य टीके, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया का कोविशील्ड है और रूस का स्पूतनिक-वी है. भारत के औषधि महानियंत्रक ने जनवरी में देश में आपातकालीन उपयोग के लिए कोवैक्सीन को मंजूरी दी थी.

    एम्स महानिदेशक ने कही थी ये बात
    एम्स (AIIMS) के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने जानकारी दी है कि बच्‍चों के लिए कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) सितंबर तक लांच की जा सकती है. भारत में अब तक 42 करोड़ से ज्‍यादा लोगों को कोरोना वैक्‍सीन लगाई जा चुकी है. सरकार ने इस साल के अंत तक 18 साल के ऊपर के सभी लोगों को वैक्‍सीन लगाने का लक्ष्‍य रखा है.

    कोरोना वायरस की दूसरी लहर का असर अभी पूरी तरह से खत्‍म भी नहीं हुआ है कि तीसरी लहर को लेकर चेतावनी जारी कर दी गई है. ऐसी रिपोर्ट भी सामने आई है, जिसके मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर बच्‍चों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि बच्चों की कोरोना वैक्सीन संक्रमण की चेन तोड़ने की दिशा में अहम कदम साबित होगी.

    Tags: Corona vaccine, Corona Vaccine in India, Corona vaccine news, Corona Vaccine Update, Coronavaccine

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर