कोरोना वायरस से लड़ाई को मजबूती देने के लिए महाराष्ट्र, गुजरात और तेलंगाना का दौरा करेगी केंद्रीय टीम

कोरोना वायरस से लड़ाई को मजबूती देने के लिए महाराष्ट्र, गुजरात और तेलंगाना का दौरा करेगी केंद्रीय टीम
देशभर में अब टेस्ट का आंकड़ा 7560782 पहुंच गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल (Joint Secretary Lav Agarwal) की अगुआई में ये टीम 26 जून से लेकर 29 जून तक गुजरात (Gujarat), महाराष्ट्र (Maharashtra) और तेलंगाना (Telangana) के दौरे पर रहेगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. गुजरात (Gujarat), महाराष्ट्र (Maharashtra) और तेलंगाना (Telangana) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने दिल्ली से टीम भेजने का फैसला किया है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल (Joint Secretary Lav Agarwal) की अगुआई में ये टीम इन राज्यों के दौरे पर रहेगी. 26 जून से लेकर 29 जून तक इस टीम का इन राज्यों के अधिकारियों के साथ बातचीत, कोऑर्डिनेशन और कोविड-19 (Covid-19) से निपटने में चल रहे प्रयासों को बढ़ाने पर जोर रहेगा. देश में अब तक 1007 डायग्नोस्टिक लैब हैं. जिसमें से 734 सरकारी और 273 प्राइवेट हैं. पिछले 24 घंटे में 2,07,871 टेस्ट हुए जबकि देश भर में अब टेस्ट का आंकड़ा 7560782 पहुंच गया है. राहत की बात ये है कि अब तक देश भर में 2,71,696 कोरोना के मरीज ठीक हो चुके हैं.

5 प्रदेशों में कोरोना से 82.59 फीसदी लोगों की मौत
कोरोना संक्रमण से सबसे ज़्यादा मौत देश के 5 राज्यों में देखने को मिल रही हैं. सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 6739 कोरोना के मरीजों की मौत हुई है. जबकि राजधानी दिल्ली में 2365 मौतें हो चुकी हैं. गुजरात में 1735, तमिलनाडु में 866 और उत्तर प्रदेश में 596 मरीजों की कोरोना वायरस के चलते मौत हुई है. इन पांच राज्यों में मौत का कुल आंकड़ा 12,301 है जबकि देशभर में अब तक 14,894 लोगों की कोरोना से जान गई है. लिहाज़ा 82.59% मौत इन्हीं पांच प्रदेशों से है. वहीं एक राहत की बात ये है कि देश के सात प्रदेश ऐसे हैं जहां पर कोरोना से अभी तक एक भी मौत की पुष्टि नहीं हुई है. ये राज्य अंडमान निकोबार, अरुणाचल प्रदेश, दादरा एंड नगर हवेली, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम हैं.


ये भी पढ़ें- मुंबई में कोरोना का पीक शायद बीत गया लेकिन मानसून और अनलॉक की मुश्किलें बाकी 



मुंबई से आगे दिल्ली
कोरोना का संक्रमण देशभर में है लेकिन देश की राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. दिल्ली में कोरोना के मरीजों का आंकड़ा 70,390 पहुंच गया है जबकि मुंबई में आंकड़ा 69,625 है. लेकिन अस्पतालों में ज़्यादा मरीज अब भी मुंबई में एडमिट हैं. फिलहाल एक्टिव केस मुंबई में ज़्यादा हैं. मुंबई में 28,653 एक्टिव केस हैं तो दिल्ली में 26,588 एक्टिव मामले हैं.

दिल्ली में अब तक 41,437 मरीज़ ठीक हुए हैं तो मुंबई में ठीक होने वालों की संख्या 37,010 है. दिल्ली में कोरोना से पहली मौत 13 मार्च को हुई जबकि मुंबई से पहली मौत की खबर 17 मार्च को आई. दिल्ली में मरने वालों की संख्या 2365 है तो मुंबई में मरने वालों की संख्या 3962 है. हालांकि दिल्ली में टेस्ट मुंबई के मुकाबले ज्यादा हुए हैं. दिल्ली में कुल टेस्ट- 4,20,707 किये जा चुके हैं जबकि मुंबई में कुल 2,99,379 टेस्ट हुए हैं. डबलिंग रेट के हिसाब से देखा जाए तो दिल्ली के मुकाबले मुंबई के हालात बेहतर हैं. मुंबई में डबलिंग रेट 39 दिन है जबकि दिल्ली में करीब 15 दिन में कोरोना के मामले डबल हो रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज