कोविड-19: वैश्विक टीका गठबंधन ‘गावी’ के लिये भारत ने दिए 1.5 करोड़ डॉलर

कोविड-19: वैश्विक टीका गठबंधन ‘गावी’ के लिये भारत ने दिए 1.5 करोड़ डॉलर
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने यह संकल्प ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British PM Boris Johnson) द्वारा आयोजित वैश्विक टीका शिखर सम्मेलन (Virtual Global Vaccine Summit) को संबोधित करते हुए व्यक्त किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने यह संकल्प ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British PM Boris Johnson) द्वारा आयोजित वैश्विक टीका शिखर सम्मेलन (Virtual Global Vaccine Summit) को संबोधित करते हुए व्यक्त किया.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय टीका गठबंधन ‘गावी’(International Vaccine Alliance GAVI) के लिये 1.5 करोड़ डॉलर देने का संकल्प व्यक्त किया . प्रधानमंत्री कार्यालय (Prime Minister Office) से यह जानकारी प्राप्त हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने यह संकल्प ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British PM Boris Johnson) द्वारा आयोजित वैश्विक टीका शिखर सम्मेलन (Virtual Global Vaccine Summit) को संबोधित करते हुए व्यक्त किया. इस शिखर सम्मेलन में 50 से अधिक देशों के कारोबारी नेताओं, संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों, सरकार के मंत्रियों, नागरिक संस्थाओं, शासनाध्यक्षों आदि ने हिस्सा लिया.

प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, अपने संबोधन मे मोदी ने कहा कि भारत इस चुनौतीपूर्ण समय में दुनिया के साथ एकजुटता के साथ खड़ा है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) ने एक तरह से वैश्विक सहयोग की सीमाओं को उजागर किया है और हाल के इतिहास में पहली बार मानव का सामना स्पष्ट रूप से एक साझा शत्रु से हुआ है.

वैश्विक एकजुटता का प्रतीक है गावी
‘गावी’ का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यह केवल एक गठबंधन नहीं है बल्कि वैश्विक एकजुटता का प्रतीक है और यह याद दिलाता है कि दूसरों की मदद करके हम अपनी मदद कर सकते हैं. मोदी ने कहा कि भारत की बड़ी आबादी है और स्वास्थ्य सुविधाओं की सीमा है और वह टीकाकरण के महत्व को समझता है. उन्होंने कहा कि भारत की सभ्यता हमें दुनिया को एक परिवार की तरह देखने की शिक्षा देती है और महामारी के समय में हमने इस शिक्षा को साकार किया है.



भारत ने 120 देशों में भेजीं दवाएं


प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने अपने उपलब्ध दवाओं के स्टॉक में से 120 देशों के साथ साझा किया है और अपने पड़ोस में एक साझा प्रतिक्रिया रणनीति कायम की. उन्होंने कहा कि भारत टीका के अग्रणी उत्पादकों में से एक है. भारत ‘गावी’ के कार्यों को समझता है और इसलिये ‘गावी’ का दानदाता बना है.

देश में 1 लाख से ज्यादा एक्टिव केस
बता दें इस समय देश में में संक्रमण के कुल 2,18,437 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 6,104 लोगों की मौत हो चुकी है. अब तक 1,04,628 लोग इलाज के बाद ठीक (Recovery Rate) भी हो चुके हैं. वहीं, 1,07,705 लोगों का इलाज चल रहा है. भारत अमेरिका, ब्राजील, रूस, ब्रिटेन, स्पेन और इटली के बाद कोरोना वायरस से सबसे ज्‍यादा प्रभावित देशों की सूची में सातवें नंबर पर है.

देश भर में कोविड-19 की जांच की संख्‍या 40 लाख के पार पहुंच चुकी है. वहीं, 480 सरकारी और 208 निजी प्रयोगशालाओं के जरिये हर दिन करीब 1.40 लाख लोगों की कोरोना जांच की जा रही हैं.



ये भी पढ़ें-
ऐसा होगा अनलॉक-1: मॉल में 24 से कम नहीं होगा AC, मंदिर में प्रसाद नहीं

भारत में ठीक हुए एक लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित, रिकवरी रेट 47.89 फीसदी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading