Covid-19: गोवा में आज से 10 अगस्त तक रहेगा जनता कर्फ्यू, इस हफ्ते तीन दिन का लॉकडाउन

गोवा में इस हफ्ते तीन दिन का संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा (सांकेतिक तस्वीर)
गोवा में इस हफ्ते तीन दिन का संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा (सांकेतिक तस्वीर)

गोवा (Goa) के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (CM Pramod Sawant) ने बुधवार को कहा कि राज्य में कोविड-19 (Covid-19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए आज से 10 अगस्त तक रोज रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक जनता कर्फ्यू रहेगा.

  • Share this:
पणजी. गोवा (Goa) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (CM Pramod Sawant) ने घोषणा की है कि राज्य में जनता कर्फ्यू (Janta Curfew) लगाया जाएगा. मुख्यमंत्री के मुताबिक ये कर्फ्यू आज से 10 अगस्त तक रोजाना लगाया जाएगा जिसका समय रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक का होगा. इसके अलावा इस हफ्ते तीन दिन संपूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) रहेगा. गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बुधवार को कहा कि राज्य में कोविड-19 (Covid-19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए आज से 10 अगस्त तक रोज रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक जनता कर्फ्यू रहेगा. इस दौरान सिर्फ चिकित्सीय सेवाओं को ही आवाजाही की इजाजत होगी.

प्रमोद सावंत ने आगे कहा कि जनता कर्फ्यू आज से शुरू हो जाएगा. इसके अलावा इस हफ्ते शुक्रवार, शनिवार और रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जाएगा. आखिरी अपडेट तक गोवा में कोरोना वायरस संक्रमण के 2753 मामले सामने आए हैं जबकि अब तक 18 लोग इस घातक वायरस के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं. वहीं तेजी से बढ़ रहे मामलों के बीच गोवा सरकार ने मंगलवार को राज्य के सभी अस्पतालों को 20 प्रतिशत बिस्तर कोविड-19 मरीजों के लिए आरक्षित रखने का आदेश दिया.


आदेश का पालन न करने वाले अस्पतालों का रद्द होगा लाइसेंस
मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने तटीय राज्य में कोविड-19 संबंधी हालात की समीक्षा के लिए सोमवार को एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की थी, जिसमें यह फैसला किया गया. गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे भी इस बैठक में शामिल हुए. बाद में, राज्य स्वास्थ्य सेवा निदेशक डॉ. जोस डीसा ने एक आदेश में कहा, ‘‘गोवा में आईसीयू सुविधाओं वाले सभी निजी अस्पतालों के लिए कोविड-19 मरीजों के लिए 20 प्रतिशत बिस्तर आरक्षित रखना अनिवार्य होगा.’’ उन्होंने कहा कि यदि कोई अस्पताल इस आदेश का पालन नहीं करता है, तो उसका लाइसेंस निलंबित या रद्द कर दिया जाएगा.



ये भी पढ़ें :- कोरोना संकट के बीच जियो मार्ट 200 शहरों में हर दिन पहुंचा रहा है 2.5 लाख ऑर्डर

कांग्रेस ने किया सरकार के फैसले का विरोध
गोवा सरकार के इस फैसले की कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिगंबर कामत ने निंदा की. कामत ने दावा किया कि इस कदम ने लोगों के मन में दहशत पैदा कर दी थी. कामत ने कहा, ‘‘गोवा के प्रत्येक निजी अस्पताल में 20 प्रतिशत बेड आरक्षित करने के सरकार के फैसले ने लोगों के मन में दहशत और भय पैदा कर दिया है. क्या सरकार हर अस्पताल के बिस्तर पर कोविड-19 मरीज लाने की कोशिश कर रही है?’’

विपक्ष के नेता ने सवाल किया कि अगर गोवा में छोटे अस्पतालों में भी कोरोनो वायरस से संक्रमित लोगों को भर्ती कराया जाता है तो यह अन्य रोगियों के लिए कितना सुरक्षित रह जाएगा. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज