Assembly Banner 2021

भारत में खात्मे की ओर बढ़ रही कोविड-19 महामारी, टीके पर भरोसा करें लोग: हर्षवर्धन

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना के खात्मे के लिए टीकाकरण जरूरी है. ( प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना के खात्मे के लिए टीकाकरण जरूरी है. ( प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)

Coronavirus in India: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भारत में कोविड-19 महामारी खात्मे की ओर बढ़ रही है. इस चरण में सफलता हासिल करने के लिये हमें तीन कदम उठाने की जरूरत है: कोविड-19 टीकाकरण अभियान को राजनीति से दूर रखें. कोविड-19 टीकों से जुड़े विज्ञान पर भरोसा करें और यह सुनिश्चित करें कि हमारे प्रिय जनों को समय पर टीके लगें.

  • Share this:
नई दिल्ली. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Health Minister Harshvardhan) ने रविवार को कहा कि "भारत में कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) खात्मे की ओर बढ़ रही है" और कोविड-19 टीकाकरण अभियान को राजनीति से दूर रखा जाना चाहिये. उन्होंने कहा कि लोगों को टीके से जुड़े विज्ञान पर भरोसा और यह सुनिश्चित करना चाहिये कि उनके प्रियजनों को समय पर टीके लग जाएं. हर्षवर्धन ने रविवार को धर्मशिला नारायण अस्पताल के सहयोग से आयोजित दिल्ली चिकित्सा संघ (डीएमए) के 62वें वार्षिक दिल्ली राज्य चिकित्सा सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि देश में अब तक कोविड-19 के दो करोड़ से अधिक टीके लगाए जा चुके हैं और टीकाकरण दर बढ़कर प्रतिदिन 15 लाख हो गई है.

उन्होंने कहा, "दूसरे देशों के मुकाबले हमने कोविड-19 टीकों की तेजी से आपूर्ति की है, जो सुरक्षित हैं और उनकी प्रभावकारिता साबित हो चुकी है. प्रारंभिक परिणामों के आधार पर, भारत में निर्मित इन टीकों को दुनियाभर में लगाए जाने के बाद प्रतिकूल प्रभाव के बेहद कम मामले सामने आए हैं."

उन्होंने कहा, "भारत में कोविड-19 महामारी खात्मे की ओर बढ़ रही है. इस चरण में सफलता हासिल करने के लिये हमें तीन कदम उठाने की जरूरत है: कोविड-19 टीकाकरण अभियान को राजनीति से दूर रखें. कोविड-19 टीकों से जुड़े विज्ञान पर भरोसा करें और यह सुनिश्चित करें कि हमारे प्रिय जनों को समय पर टीके लगें."



ये भी पढ़ें- चीन-पाक की हरकतों पर भारत की पैनी नजर, सैटेलाइट से होगी रियल टाइम निगरानी
देश में ऐसे हैं कोरोना वायरस के आंकड़े
बता दें रविवार को देश में लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस संक्रमण के 18,000 से अधिक नए मामले सामने आए और इसी के साथ अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,12,10,799 हो गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि उपचाराधीन मरीजों की संख्या में लगातार पांचवें दिन बढ़ोतरी देखी गई है और देश में अभी 1,84,523 लोगों का इलाज चल रहा है जो संक्रमण के कुल मामलों का 1.65 प्रतिशत है. मंत्रालय ने बताया कि संक्रमित हुए लोगों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 96.95 प्रतिशत हो गई है.

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 18,711 नए मामले सामने आए तथा 100 और लोगों की मौत होने के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,57,756 हो गई. इससे पहले, 29 जनवरी को संक्रमण के नए मामलों की संख्या 18,855 थी.

देश में संक्रमित हुए 1,08,68,520 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, यानी देश में संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 96.95 प्रतिशत है, जबकि मृत्यदुर 1.41 प्रतिशत बनी हुई है.

ये भी पढ़ें- दक्षिण में शाह का चुनावी बिगुल, बोले- केरल में हिंसा, भ्रष्‍टाचार का बोलबाला

देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी. संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में छह मार्च तक 22,14,30,507 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है. इनमें से 7,37,830 नमूनों की जांच शनिवार को की गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि जिन मरीजों की मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से अधिक मरीज अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज