• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • नए कोरोना स्ट्रेन के मद्देनजर नए नियम, ब्रिटेन से आने वालों पर होंगे लागू

नए कोरोना स्ट्रेन के मद्देनजर नए नियम, ब्रिटेन से आने वालों पर होंगे लागू

एयरपोर्ट पर ही एहतियात और ज्यादा बढ़ाया जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

एयरपोर्ट पर ही एहतियात और ज्यादा बढ़ाया जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

केंद्र सरकार (Central Government) ने ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स को लेकर नए नियम जारी किए हैं. इसके तरत यात्रियों की एयरपोर्ट पर उतरते ही RT-PCR टेस्टिंग की जाएगी. अगर किसी यात्री में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन (New Strain of Coronavirus) पाया जाता है तो उसे अलग आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ब्रिटेन (Britain) में कोरोना का नया स्ट्रेन (New Strain of Coronavirus) मिलने के बाद दुनियाभर के देशों में खलबली है. दुनिया के कई देशों ने ब्रिटेन से फ्लाइट्स रोक दी हैं, भारत ने भी ऐसा किया है. अब केंद्र सरकार (Central Government) ने ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स को लेकर नए नियम (New SOP) जारी किए हैं. इसके तहत यात्रियों की एयरपोर्ट पर उतरते ही RT-PCR टेस्टिंग की जाएगी. अगर किसी यात्री में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पाया जाता है तो उसे अलग आइसोलेशन वार्ड (Separate Isolation Ward) में रखा जाएगा. साथ ही उस यात्री के सहयात्रियों को भी सरकारी निर्देश में क्वारंटाइन (Institutional Quarantine) किया जाएगा.

    इसे रोका जा सकता है, ये नियंत्रण से बाहर नहीं है: विश्व स्वास्थ्य संगठन
    वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) में कोविड-19 के प्रमुख माइकल रायन ने कहा है कि भले ही नया स्ट्रेन फैलने में ज्यादा तेज हो गया है, लेकिन इसे रोका जा सकता है. ये नियंत्रण से बाहर नहीं है. उन्होंने कहा है कि नए स्ट्रेन को फैलने से रोकने के लिए हमें वहीं करने की जरूरत है, जो हम अभी तक करते आ रहे हैं. लेकिन हमें कोविड-19 से बचने संबंधी गाइडलाइन का और सख्ती के साथ पालन करना होगा.


    युवा लोगों पर असर डाल रहा है नया स्ट्रेन
    इस संबंध में नई गाइडलाइन जारी करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि नए कोरोना वायरस स्ट्रेन को European Center for Disease Control (ECDC) ने ज्यादा संक्रमणकारी माना है. और ये युवा लोगों पर असर डाल रहा है.



    सरकार ने इसे देखते हुए बीते एक महीने के दौरान ब्रिटेन की यात्रा करने वाले या फिर वहां ट्रांजिट में रहने वाले यात्रियों से ब्योरा मांगा है. सभी यात्रियों को अपनी 14 दिन की ट्रैवल हिस्ट्री बतानी होगी. भारत आने पर उनका RT-PCR टेस्ट किया जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज