कोविड-19: तमिलनाडु सरकार ने रमजान के दौरान मस्जिदों में खिचड़ी बनाने पर लगाई रोक

कोविड-19: तमिलनाडु सरकार ने रमजान के दौरान मस्जिदों में खिचड़ी बनाने पर लगाई रोक
ईद की नमाज के बाद परिवार वालों को फितरा दिया जाता है जिसमें 2 किलो ऐसी चीज दी जाती है जिसका प्रतिदिन खाने में इस्तेमाल हो.

सरकार के अनुसार कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन (Lockdown) के कारण मस्जिदों में दलिया तैयार नहीं किया जा सकता क्योंकि पूरे देश में धार्मिक स्थल बंद है.

  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु सरकार (Tamilnadu Government) ने गुरुवार को कहा कि राज्य में हर बार की तरह इस बार रमजान (Ramzan) के दौरान मस्जिदों में उसके द्वारा दिये गए चावल से खिचड़ी नहीं बनाया जाए, बल्कि इस चावल को जरूरतमंद मुसलमानों के बीच बांट दिया जाए.

सरकार के अनुसार कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन (Lockdown) के कारण मस्जिदों में दलिया तैयार नहीं किया जा सकता क्योंकि पूरे देश में धार्मिक स्थल बंद है. दरअसल, तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत जे जयललिता (J Jailalitha) ने रजमान के दौरान इफ्तार के लिये दलिया बनाने के वास्ते मस्जिदों को मुफ्त में चावल मुहैया कराने का ऐलान किया था.

धर्मगुरुओं संग बैठक के बाद लिया गया फैसला
एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्य सचिव के षणमुगम ने इस संबंध में मुस्लिम धर्मगुरुओं के साथ बैठक की. विज्ञप्ति में कहा गया है कि तमिलनाडु वक्फ बोर्ड ने कहा है कि मस्जिदों, दरगाहों और इमामबाड़ों में नमाज पढ़ने और इफ्तार करने से परहेज करें.
विज्ञप्ति के अनुसार हर साल मस्जिदों और दरगाहों को दलिया बनाकर गरीबों में बांटने के लिये 5,450 टन चावल मुहैया कराया जाता है. इस बार भी इतना ही चावल 19 अप्रैल तक 2,895 मस्जिदों में पहुंचा दिया जाएगा, जिसे मस्जिद प्रबंधन स्वयंसेवकों की मदद से 22 अप्रैल से पहले जरूरतमंद मुसलमानों के बीच बांट सकता है.



तमिलनाडु में अब तक 15 की मौत
बता दें राज्य के मुख्यमंत्री ई के पलानीस्वामी ने कहा कि गुरुवार को राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से एक और व्यक्ति की मौत होने के साथ मृतकों का आंकड़ा बढ़ कर 15 हो गया. संक्रमण के 25 नए मामले सामने आने के साथ कुल मामले बढ़ कर 1267 हो गये हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि वेंटीलेटर, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) और मास्क के पर्याप्त भंडार हैं. उन्होंने कहा कि राज्य ने त्वरित जांच किट के लिये चीन को जो आर्डर दिया था उसे किसी अन्य देश को भेज दिया गया और यहां तक कि केंद्र भी मेडिकल सामग्री की खेप का इंतजार कर रहा है. उन्होंने कहा कि करीब 180 लोगों को इलाज के बाद अब तक अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. यह आंकड़ा बुधवार तक 118 था.

पलानीस्वामी ने कहा कि नये मामलों की कम संख्या से यह प्रदर्शित होता है कि सरकार संक्रमण के प्रसार को रोक पा रही है. बुधवार को नये मामले 38 थे, जो मंगलवार के 31 मामलों से कुछ अधिक थे जबकि इससे पहले के हफ्तो में यह संख्या अधिक थी. राज्य में सोमवार को 98 नये मामले और रविवार को 106 मामले सामने आये.

ये भी पढ़ें-
Lockdown: पुलिस लाइन परिसर में फंसे मजदूरों को खाना खिला रही दिल्ली पुलिस

लॉकडाउन 2.0: हवाई जहाज के पहियों के बीच आराम फरमाता नजर आया अजगर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading