अपना शहर चुनें

States

भारत तेजी के कर रहा है फ्रंटलाइन वर्कर्स का वैक्सिनेशन, 12.7 लाख को मिला 'कोरोना-कवच'

भारत में तेजी के साथ फ्रंटलाइन वर्कर्स का कोरोना वैक्सिनेशन किया जा रहा है.  (न्यूज़18 क्रिएटिव)
भारत में तेजी के साथ फ्रंटलाइन वर्कर्स का कोरोना वैक्सिनेशन किया जा रहा है. (न्यूज़18 क्रिएटिव)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के मुताबिक, ‘अस्थायी रिपोर्ट के मुताबिक (आज शाम छह बजे तक) 24,397 सत्रों में कोविड-19 का टीका लगवाने वाले स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या 12.7 लाख (12,72,097) को पार कर गई है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 12:30 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने शुक्रवार को कहा कि एक अस्थायी रिपोर्ट के मुताबिक कोविड-19 के खिलाफ राष्ट्रव्यापी टीकाकरण (Covid Vaccination Drive) के सातवें दिन तक देश में 12.7 लाख स्वास्थ्य कर्मियों ने टीका लगवाया है. मंत्रालय ने कहा कि शुक्रवार को शाम छह बजे तक 6,230 सत्रों में 2,28,563 लाभार्थियों को टीका लगाया गया, जबकि अंतिम रिपोर्ट देर रात तक तैयार होगी.

अभियान के सातवें दिन टीके के प्रतिकूल प्रभाव के 267 मामले देखने को मिले
मंत्रालय ने कहा, ‘देशव्यापी स्तर पर चलाये जा रहे कोविड-19 टीकाकरण अभियान के सातवें दिन सफलतापूर्वक यह कार्यक्रम संचालित किया गया.’ मंत्रालय ने कहा, ‘अस्थायी रिपोर्ट के मुताबिक (आज शाम छह बजे तक)24,397 सत्रों में कोविड-19 का टीका लगवाने वाले स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या 12.7 लाख (12,72,097) को पार कर गई है.’ मंत्रालय के मुताबिक टीकाकरण अभियान के सातवें दिन शाम छह बजे तक टीके के प्रतिकूल प्रभाव के 267 मामले देखने को मिले हैं.

जानिए राज्यवार कितने फ्रंटलाइन वर्कर्स का हुआ वैक्सिनेशन
राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से अब तक टीके के प्रतिकूल प्रभाव के 1,110 से अधिक मामले देखने को मिले हैं. टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से शुक्रवार शाम छह बजे तक टीका लगवाने वाले कुल लाभार्थियों में आंध्र प्रदेश में 1,27,726, बिहार में 63,620 , केरल में 1,82,503 , कर्नाटक में 1,82,503, मध्य प्रदेश में 38,278, तमिलनाडु में 46,825, दिल्ली में 18,844, गुजरात में 42,395 और पश्चिम बंगाल में 80,542 लोग शामिल हैं. ये आंकड़े अस्थायी रिपोर्ट से लिए गये हैं.



गौरतलब है कि भारत में भारत-बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन और सीरम इंस्टिट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड के जरिए टीकाकरण किया जा रहा है. देश में पहले फेज में जुलाई महीने तक तीस करोड़ लोगों के प्राथमिकता के आधार पर वैक्सिनेशन का प्लान है. इनमें फ्रंटलाइन वर्कर्स और उम्रदराज लोगों को शामिल किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज